50 रू के कारण हत्या: हत्यारो की गिरफ्तारी को लेकर अडे परिजन,नही करेंगें अंतिम संस्कार

पोहरी। कल शाम पोहरी थाना अंतर्गत आने वाले गांव भानगढ में बनवारी जाटव की हत्या गांव के धाकड समुदाय के लोगो ने लाठियो से पीट-पीट कर दी थी। आज सुबह होते ही आरोपियो की गिरफ्तारी की मांग को लेकर परिजन ओर बसपा के कार्यकर्ताओ ने पोहरी थाने के समाने धरना प्रर्दशन शुरू कर दिया।

धरना दे रहे लोगो की मांग थी कि मृतक के परिवार को 50 लाख की आर्थिक सहायता,एक सरकारी नौकरी, आत्मरक्षा हेतु बंदूक का लाइसेंस दिया जाए तभी मृतक का अंतिम संस्कार किया जाएगा। इसके बाद शिवपुरी जिले का प्रशासनिक एवं पुलिस अमला हलचल में आया और मौके पर पुलिस फोर्स के साथ ही स्थानीय अधिकारियों को तत्काल भेजा गया प्रशासन के आश्वासन के बाद परिजन एवं समाज के अन्य लोग मृतक के अंतिम संस्कार के लिए सहमत हो गए। इस मामले मे बहुजन समाज पार्टी ने ज्ञापन भी सौपा हैं।

मात्र 50 रूपए के विवाद को लेकर हो गई हत्या

पोहरी से 8 किलोमीटर भानगढ़ गांव में सिर्फ 50 रुपए की लड़ाई में कुछ लोगों ने मिलकर बनवारी पुत्र लघु जाटव निवासी भानगढ़ की गांव के ही धाकड़ समाज के एक परिवार ने पथराव और लाठियों से पीट-पीटकर हत्या कर दी है। हादसे के पीछे वजह यह है कि मृतक का भतीजा विनोद जाटव शाम 6:00 बजे सामान लेने दुकान पर गया था। यहां नंदकिशोर चंदेल ने उसे जबरन गले लगा लिया। विनोद ने कहा कि तुमने मेरी जेब से 50 रुपए निकाल लिए है। यहीं से विवाद शुरू हो गया।

इस विवाद में धाकड़ परिवार का युवक शामिल हो गया। उस समय विवाद टल गया, लेकिन रात 8:00 बजे धाकड़ परिवार के लोग एकजुट होकर ट्रेक्टर में भर कर पहुंच  गए और पथराव कर लाठियों से हमला बोल दिया। हमले में बनवारी लाल गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को अस्पताल ले जाने के लिए टैक्सी तक नहीं निकलने दी।

मृतक के परिजनों ने एंबुलेंस बुलवा ली लेकिन एंबुलेंस गांव में प्रवेश नहीं कर सकी। बाद में पोहरी थाने पर सूचना पहुंची और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायल को अस्पताल पहुंचाया। लेकिन उससे पहले ही बनवारी की मौत हो चुकी थी। पुलिस मामले में 14 लोगो पर हत्या सहित अन्य गंभीर धाराओ में मामला दर्ज किया हैं। सभी आरोपी फरार बताए जा रहे हैं।