40 डिग्री पारे के बीच जमकर हो रही है बिजली कटौती, पब्लिक परेशान / Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी शहर में मानसून पूर्व रखरखाव को लेकर मनमाने ढंग से बिजली काटी जा रही है। बिजली सुबह 8 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक अलग-अलग इलाकों मेें काटी जा रही है। लॉक डाउन में जनता पहले से ही तमाम नियम-कायदे कानून से परेशान है। इस बीच अब मनमानी बिजली कटौती से जनता की परेशानी बढ़ गई है। शनिवार को शहर के कई क्षेत्रों में बिजली की अघोषित कटौती की गई है।

इस कटौती को मानसून पूर्व रखरखाव  का नाम दिया जा रहा है। शहर में शनिवार को मनमाने ढंग से कई क्षेत्रों में बिजली गायब रही। विवेकानंद कॉलोनी, कमलागंज, न्यू ब्लॉक, सर्किट हाउस रोड, अस्पताल रोड, जल मंदिर, शक्तिपुरम खुड़ा आदि क्षेत्रों के लोगों ने बताया कि सुबह 8:00 बजे से विद्युत की अघोषित कटौती की जा रही है। तेज गर्मी के बीच इस मनमानी कटौती से जनता बेहाल है।

विद्युत कंपनी के अधिकारियों से बात करो तो वह कोई संतोषप्रद जवाब नहीं देते हैं। वहीं दूसरी ओर बिजली वितरण कंपनी की अधिकारियों ने बताया है कि आज डाक बंगला फीडर एवं अन्य क्षेत्रों में मानसून पूर्व आवश्यक रखरखाव को ध्यान में रखते हुए यह बिजली काटी गई है।

लॉक डाउन में जनता की मांग कम की जाए कटौती

परेशान जनता का कहना है कि लॉक डाउन के बीच तेज गर्मी से परेशान हैं। मानसून पूर्व रखरखाव में बिजली कटौती सुबह 8 से 12 तक की जाए तो ठीक रहेगा। लेकिन देखा यह जा रहा है कि दोपहर 2 बजे तक की बिजली काटने की बात कही जाती है जबकि वह दोपहर 3 और 4 बजे तक आती है।

आखिर कितने दिनों तक चलेगा यह रखरखाव

बिजली वितरण कंपनी से जुड़े अधिकारी मनमाने ढंग से मानसून पूर्व आवश्यक रखरखाव की बात कहकर बिजली की अघोषित कटौती कर रहे हैं जबकि पिछले दो महीने से यह मानसून रखरखाव का बहाना बनाकर यह बिजली काटी जा रही है। परेशान लोगों का कहना है कि मानसून पूर्व रखरखाव का एक चार्ट जारी होना चाहिए।

लगभग १० दिन पहले यह जारी होना चाहिए जिससे लोगों को पता रहे कि किस क्षेत्र में कब कटौती होगी । मनमाने ढंग से कभी भी किसी क्षेत्र में बिजली कटौती कर दी जाती है। मानसून पूर्व रखरखाव की यह प्रक्रिया कुछ दिन की होनी चाहिए। लगातार कभी भी मनमाने ढंग से बिजली कटौती बंद होनी चाहिए।

विद्युत व्यवधान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा: एमडी विशेष गढ़पाले

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री विशेष गढ़पाले ने कहा है कि प्राकृतिक आपदा जैसे आँधी-तूफान को छोड़कर अन्य किसी परिस्थितियों में किसी भी प्रकार का विद्युत व्यवधान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।