गांव की सीमा पर तैनात युवाओं की फौज, रिश्तेदारों को भी घुसने नहीं देंगे | pichhore news

पिछोर। कोरोना महामारी से बचने के लिए केंद्र और प्रदेश की सरकारें सहित मीडिया और समाजसेवी संगठन जागरूकता फैलाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। जिनके यह कदम सार्थक होते दिख रहे हैं। कोरोना जैसी महामारी को लेकर ग्रामीण भी सजग हो गए हैं और उन्होंने अपने गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगानी शुरू कर दी है।

पिछोर के पटसेरा गांव में ऐसा ही एक दृश्य देखने को मिला। जहां युवकों की टोलियां गांव के सभी प्रवेश द्वारों पर खड़े होकर पहरा दे रही हैं और किसी भी बाहरी व्यक्ति को गांव में प्रवेश करने से रोक रही हैं।

ग्राम पंचायत पटसेरा निवासी रानू यादव ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान घरों से बाहर निकलने पर पूरी पावंदी लगी हुई है। कोई भी ग्रामीण गांव से बाहर निकलता है तो मुुंह पर मास्क लगाकर ही बाहर आता है और वह अपना काम निपटाकर घर पर वापस चला जाता है।

गांव के किसी भी व्यक्ति को गांव के बाहर निकलने की मना ही है और बाहरी व्यक्तियों का भी गांव में प्रवेश पूर्णत: बंद कर दिया गया है। गांव के प्रवेश द्वारों पर बांस वल्ली लगाकर रास्ते बंद कर दिए हैं और वहां पर गांव के युवा हाथों में डंडें लेकर गांव की सीमाओं की सुरक्षा कर रहे हैं।

इस दौरान गांव के किसी भी निवासी के दोस्त, रिश्तेदार का प्रवेश नहीं है। ग्रामीणों की यह सजगता देख अन्य गांव के लोग भी इस तरह की सुरक्षा व्यवस्था करने की तैयारी कर रहे हैं।