खबर का असर: DM और SP ने पुजारियों के बयान दर्ज किए | pohri news

पोहरी। जिले के पोहरी अनुविभाग में लॉक डाउन के पालन का उल्लघंन करने का अरोप लगाकर पोहरी एसडीएम पल्लवी वैद्य ने मंदिरों के पुजारियों के साथ अपने अंगरक्षकों द्वारा बेरहमी से मारपीट कराई गई थी। मंदिरों के पुजारियों के साथ हुई मारपीट का विरोध क्षेत्र की जनता द्वारा किया गया। जिसकी शिकायतें विधायक, सांसद, से लेकर भोपाल तक की गई थी। वहीं समाचार पत्र और सोशल मीडिया के माध्यम से एसडीएम की इस कार्यवाही का जमकर विरोध किया गया। इस मामले को सबसे पहले शिवपुरी समाचार डॉट कॉम ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इस मामले को प्रकाशित करने के बाद भाजपा के नेताओं ने भी इस मामले में विरोध किया और पूरे मामले मे कार्यवाही कराने के लिए सामने आने की बात कही थी।

इस पूरे घटनाक्रम की जांच के लिए आज जिलाधीश अनुग्राह पी व पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल पोहरी पहुंचे और पीडि़त पुजारियों के बयान दर्ज किए। बताया गया हैं कि पुजारियों ने अपने बयान में कहा है कि उनके साथ अकारण मारपीट एसडीएम के आदेश पर पुलिस ने की हैं। जो आरोप उन पर लगाए गए थे। वे गलत हैं जिस समय उनके साथ मारपीट की गईथी।

उस समय मंदिरों पर कोई भीड़ ही नहीं थी। इसके बाद भी उनके साथ मारपीट हुई। पुजारियों ने एक स्वर में कहा कि दोषी एसडीएम और पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की जाना चाहिए। पुलिस अधीक्षक ने पुजारियों को आश्वासन दिया हैं कि दोषियों के खिलाफ अवश्य दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी। साथ ही पुलिस अधीक्षक ने  पुजारियों से कहा कि वे लॉक डाउन के नियमों का पालन करें।

विदित हो कि लॉक डाउन के बाद पोहरी एसडीएम पल्लवी वैद्य ने क्षेत्र के मंदिरों को टारगेट करते हुए पुजारियों के साथ लॉक डाउन के पालन न करने का हवाला देते हुए पुजारियों की वे रहमी से अपने समक्ष अंगरक्षकों के द्वारा डंडों से मारपीट कराई थी। पुजारियों के साथ हुई अमानवीय कृत्य का सोशल मीडिया, प्रिंट मिडिया की सुर्खियां बनी रही। वहीं क्षेत्र की जनता में इस घटना के बाद आक्रोश व्याप्त हो गया।

पुजारियों के साथ हुई घटना की शिकायत जनता द्वारा क्षेत्रीय सांसद विवेकनारायण शेजवलकर, भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर, शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे सिंधिया, कोलारस के विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी, पोहरी के पूर्व विधायक प्रहलाद भारती, भाजपा के प्रदेश प्रतिनिधि सुरेन्द्र शर्मा, प्रदेश प्रवक्त धैर्यवर्धन शर्मा से शिकायतें की गर्ई।

जनप्रतिनिधियों ने मामले की जांच कराने की मांग प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से करते हुए कहा कि पुजारियों के साथ अकारण मारपीट करने का आदेश देने वाली एसडीएम पल्लवी वैद्य के खिलाफ दण्डात्मक कार्यवाही की जावे। इसी तारतम्य में आज जिलाधीश अनुग्राह पी एवं पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल पोहरी पहुंचे और वहां पुजारियों के बयान दर्ज किए। पीडि़त पुजारियों ने एक सुर में कहा कि दोषी एसडीएम व पुलिस कर्मियों के खिलाफ दण्डात्मक कार्यवाही की जाए।