ठगो ने PTM से निकाला एकाउंट से पैसे उडाने का फार्मूला, फस गए त्रिपाठी जी 49 हजार गायब

शिवपुरी। प्रतिदिन साईबर क्राईम की खबरे आती रहती हैं,ठग प्रतिदिन नए-नए फार्मूले मार्केट में लाकर लोगो को फसाने का कार्य कर रह हैं। अभी तक बैंक के कर्मचारी बन कर ठग आपके एटीएम बंद होने की बात कहकर आपसे ओटीपी लेकर आपके बैंक एकाउंट में सैधमारी करते थे।

लेकिन अब ठगो ने पेटीएम को इस्तेमाल कर बैंक एकाउंट साफ करने का नया फार्मुला बना लिया है,और इस ठगो के लेटेस्ट फार्मूले में शिवपुरी के त्रिपाठी जी फस गए और उनके बैंक एकाउंट से 49 हजार गायब हो गए। यह खबर आप सभी को पढनी चाहिए और लोगो में आम चर्चा कर सभी को बताना चाहिए जिससे लोग जागरूक होकर अपने एंकाउंट की रक्षा कर सके।

जानकारी के अनुसार फिजिकल थाना क्षेत्र के प्रियदर्शनी कॉलोनी टीव्ही रोड़ पर रहने वाले भानू प्रकाश त्रिपाठी अज्ञात ठग के जाल में फंस गए और उन्होंने अपने पेटीएम के ट्रांजेक्शन की ओटीपी ठग की बातों में आकर उन्हे बता दी और ठग ने उनके पेटीएम खाते से 49 हजार रूपए निकाल लिए।

घटना के बाद पीडि़त ने थाने पहुंचकर ठगी की शिकायत दर्ज कराई। जिस पर पुलिस ने अज्ञात ठग के खिलाफ भादवि की धारा 420 सहित 66(सी), 66(डी) आईटी एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है।

पीडि़त भानू प्रताप पुत्र रामकिशन त्रिपाठी ने थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया है कि 22 जनवरी को सुबह 11 बजकर 57 मिनट के बीच उनके मोबाइल पर एक अज्ञात व्यक्ति ने फोन किया। जिसने आपने आप को पेटीएम अधिकारी  बताकर उनसे कहा कि उनका पेटीएम एकाउंट बंद होने वाला है।

इसलिए वह अपने खाते से उसमें 10 रूपए ट्रांसफर कर दें। ठग ने उनसे यह भी कहा कि ट्रांसफर करने से पहले उनके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा, जिसे वह वैरिफाई करने के लिए उन्हें बता दें।

ठग की बातों में आकर जैसे ही श्री त्रिपाठी ने पेटीएम से 10 रूपए ट्रांसफर करने की प्रक्रिया पूरी की और इससे पूर्व एक ओटीपी उन्हें प्राप्त हुई। जिसे श्री त्रिपाठी ने ठग को बता दिया और ठग ने उस ओटीपी के माध्यम से उनके खाते से 49 हजार रूपए निकाल लिए।

जिसका मैसेज उन्हें प्राप्त हुआ तो वह घबरा गए और उन्होंने ठग के उस नम्बर पर सम्पर्क किया तो वह स्वीच ऑफ हो गया। इसके बाद श्री त्रिपाठी ने बैंक से सम्पर्क किया और पूरी जानकारी एकत्रित करने के बाद वह थाने पहुंचे जहां पुलिस ने उनकी शिकायत पर से प्रकरण कायम कर लिया।