बडी खबर:कांग्रेसी नेता ने कर रखा है 3 करोड की सरकारी जमीन पर कब्जा, तो इधर सरकारी भवन को जगह नही

कोलारस। खबर जिले के कोलारस अनुविभाग की है। जहां कांग्रेस के दिग्गज नेताओ का क्षेत्र में राज कायम है। या यू कहे कि कोलारस विधानसभा में कांग्रेसी नेताओं का इतना बोल बाला है कि प्रत्येक कांग्रेसी नेता जिसके पास कोई भी छोटे से छोटा पद है वह भी शासकीय जमींन पर कब्जा जमाए बैठा है।

ऐसा ही एक मामला ग्राम पंचायत बघोरिया से आ रहा है। जहां एक शासकीय कार्यालय के लिए प्रशासन के पास स्थान नहीं है। जबकि इसी गांव में कांग्रेस के एक नेता ने लगभग 70 बीघा शासकीय जमींन पर कब्जा कर रखा है। जिसे आज तक प्रशासन खाली नहीं करा पाया है।

जानकारी के अनुसार इन दिनों पूरे प्रदेश में एन्टी माफिया मुहिम चल रही है। जिसके चलते हालात यह है कि पूरे प्रदेश में तोडफोड जारी है। हालात यह है कि जिले भर में इस मुहिम में माफियाओं को तो प्रशासन ने क्लीन चिट दे दी है। परंतु प्रशासन गरीबों पर कहर बरफाते हुए उनके आबासों को जमींदोज कर रहा है। हालात यह है कि जिले में कई आवास तो ऐसे तोडे गए है जिनको पीएम आवास योजना के तहत बनाया गया है।

कांग्रेस भाजपा कार्यालय पर कब्जे को लेकर कलेक्टर पर दबाब बनाकर खाली कराने का प्रयास कर रही है। इसी बीच खबर यह है कि कांग्रेस के कद्दावर नेता और वर्तमान जनपद पंचायत सदस्य शिवनंदन पडैरया ने बघोरिया कुटवारा लिंक रोड पर शासकीय सर्वे नंबर 1231 और 1181 पर कब्जा कर रखा है। इस जमीन का मुल्याकन लगभग 3 करोड रूपए बताया जा रहा हैं।

इस पूरी जमींन पर कांग्रेसी नेता खेती करते है। परंतु प्रशासन को यह भूमाफिया दिखाई नहीं दे रहे। अपितु यहां प्रशासन को छोटे से छोटे लोग जो कि मजदूरी कर अपना घर बनाकर रह रहे थे उनके घर प्रशासन ने जमींदोज कर दिए।

इस गांव की ही बात करे तो इस गांव में हालात यह है कि यहां सहकारी संस्था का कार्यालय बनाने के लिए कई बार पत्र लिखे है। परंतु प्रशासन यहां शासकीय जमींन नहीं होने के चलते हर बार पत्र को खारिज कर देता है। जिसके चलते हालात यह है कि यहां शासन अपने ही कार्यालय के लिए जमींन उपलब्ध नहीं करा पा रहा है और इस गांव में दिग्गज कांग्रेसी शासन को चूना लगाते हुए लगभग 70 बीघा पर कब्जा कर रखा है।

कांग्रेसी नेता शिवनंदन पडरैया सर्वे नंबर 1231 1181 बघोरिया कुटवारा लिंक रोड के सामने, का कब्जा 70 वीघा है। ग्रामीण शासकीय भवन के लिए ग्रामीण परेशान है। सहकारी संस्था का कार्यालय पंचायत भवन में चलता है,श्रीपुर चक में संचालित है। कब कब आवेदन किया था जिसे लेकर प्रशासन परेशान है। वर्तमान में जनपद पंचायत सदस्य है।