पति गया था इंदौर मजदूरी करने,पत्नि ने अपने 3 बच्चो सहित किया अग्निस्नान, गंभीर घायल

पिछोर।खबर पिछोर अनुविभाग के एक गांव से आ रही है जहां एक महिला ने अपने 3 बच्चो में आग लगाई और फिर स्वंय को आग के हवाले कर दिया। बताया जा रहा हैं कि वह पति को अकेले इंदौर जाकर मजदूरी करने जाने से नाराज थी,और वह अपने पति के साथ जाना जाती थी।

इस घटना में आग लगने से तीनों बच्चे और महिला गंभीर रूप से झुलस गई। उन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। बताया गया है कि एक बच्चे की हालत ज्यादा खराब है।

पिछोर थाना क्षेत्र के ग्राम पारेश्वर में रहने वाली वर्षा (27) का पति दिनेश जाटव करीब डेढ़ महीने पहले मजदूरी करने के लिए इंदौर चला गया था। इस दौरान वर्षा अपने बच्चों के साथ मायके में रह रही थी। रविवार को ही वह ससुराल में लौटी। वह पति के उसे साथ लिए बिना इंदौर जाने से नाराज थी।

इसी बात पर सोमवार को पहले उसने अपने तीन बच्चों सुखिया (5), राजा (4) और एक छह महीने के बेटे के ऊपर केरोसीन डाला, फिर खुद पर केरोसीन उड़ेल लिया। इसके बाद उसने तीनों बच्चों के साथ खुद को आग लगा ली। घटना में मां और तीनों बच्चे गंभीर रूप से झुलस गए। उन्हें प्राथमिक इलाज के बाद पिछोर से ग्वालियर रैफर किया गया है। उनकी हालत गंभीर बताई गई है।

बयान में बोली- सास-ससुर से नहीं बनती थी
मौके पर पहुंचकर तहसीलदार दिनेश सिंह चौरसिया ने बयान लिए। बयान में वर्षा ने बताया कि उसकी सास-ससुर से नहीं बनती थी। वे पति के बाहर काम करने को लेकर भी उसे ताने देने थे।

वहीं इस मामले में पीड़िता की सास कस्तूरी तथा ससुर खुमना जाटव ने बताया कि 15 दिन बाद वर्षा रविवार को ही अपने मायके सीहोर से लौटी है। पति दिनेश लगभग डेड़ माह से इंंदौर में है।

घटना के समय ससुर घर के बाहर थे और सास खेत पर काम कर रही थी। बताया जाता है कि ससुर खुमना ने चिल्लाने की आवाज सुनकर वर्षा और बच्चों को बचाने की कोशिश भी की, जिसमें वह खुद भी झुलस गया।