नरवर के स्कूलों का निरीक्षण करने पहुंची कलेक्टर, शिक्षक मिले अनुपस्थिति, बच्चों को दी चॉकलेट | narwar News

नरवर। आज ज्योतिरादित्य सिंधिया के कार्यक्रम में शामिल होने जा रही शिवपुरी कलेक्टर ने कार्यक्रम से पहले स्कूलों का निरीक्षा किया। कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने नरवर विकासखंड के आधा दर्जन से अधिक स्कूलों का निरीक्षण किया और स्कूलों में व्यवस्थाएं सुधारने के निर्देश दिए। जिन स्कूलों में शिक्षक अनुपस्थित थे और समय पर स्कूल नहीं पहुँचे उनके विरुद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

शासकीय माध्यमिक विद्यालय सतनवाड़ा के निरीक्षण के दौरान कुछ शिक्षक स्कूल में उपस्थित नहीं थे। वह देरी से स्कूल आये उनके विरुद्ध कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के छात्रावास में अधीक्षिका को नियमित रूप से चादर धुलवाने, साफ-सफाई और बच्चियों को अच्छा खाना देने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान धमकन रायपुर, गोपलिया, भीमपुर और बरखाडी के प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय भी देखे। स्कूलों के प्राध्यापकों को स्पष्ट कहा है कि बैठक में भी सभी को निर्देश दिए गए थे उसी के अनुसार व्यवस्था करें। स्कूलो में ट्यूबलाइट लगाएं, शौचालय में नियमित साफ-सफाई करायें और मध्यान्ह भोजन में मीनू अनुसार खाना खिलाएं।

दो शिक्षको को नोटिस
माध्यमिक विद्यालय मड़ीखेड़ा में एक शिक्षक अवकाश पर थी जबकि दो शिक्षक में से एक भी उपस्थित नहीं था। उन्हें नोटिस देने के निर्देश दिए हैं।
रचनात्मक तरीके से पढ़ाये ताकि बच्चों में बौद्धिक क्षमता विकसित हो कलेक्टर श्रीमती अनुग्रह पी ने निरीक्षण के दौरान न केवल व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए बल्कि शिक्षकों से कहा है कि बच्चों को रचनात्मक तरीके से पढ़ाएं। जिससे बच्चों का मानसिक एवं बौद्धिक विकास हो। बच्चों को होमवर्क दें और अगले दिन उसे चैक करें। बच्चों की गलतियों को सुधरवायें। बच्चों को सिखाने के साथ ही बोलने की क्षमता विकसित करें। तभी बच्चे आगे चलकर स्वयं को प्रस्तुत कर पाएंगे।

बच्चे यूनिफॉर्म पहनकर आयें
उन्होंने सभी बच्चों को बताया कि गणवेश की राशि खातों में भेजी गयी है। सभी अपने माता-पिता को बताएं और यूनिफार्म पहनकर स्कूल आयें। शिक्षक भी अभिवावकों तक जानकारी पहुचायें।

बच्चों को दी चॉकलेट
कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने स्कूलों की विभिन्न कक्षाओं में जाकर बच्चों की कॉपियां देखी। उनसे किताब प?वाई और चॉकलेट भी दीं। उन्होंने कहा कि सभी प्रतिदिन स्कूल आयें और घर जाकर भी होमवर्क करें।