श्रीजी बेयर हाउस:रौचक नजारा अपने ही माल की नीलामी में बोली लगाते दिखे व्यापारी | Shivpuri News

शिवपुरी। आज श्रीजी बेयर हाउस रौचक नाजारा देखने को मिला कि व्यापारी अपने ही माल की बोली लगाते देखे गए। नाजारा था श्रीजी बेयर हाउस में खरीदे गए अमानक चने की नीलामी का। बताया जा रहा हैं कि यह माल कागजो में किसानो का था हकिकत में यह माल व्यापारियो का ही था।

जैसा कि विदित कि प्राथमिक कृषि साख सहकारी संस्था बेहटा द्वारा रवी विपणन में समर्थन मूल्य पर खरीदे गए किसानो के अमानक चना जो श्रीजी बेयर हाउस में रखा था। इस अमानक चने के विवाद को लेकर ही श्रीजी बेयर हाउस को सील कर दिया गया था। इस बेयर हाउस पर एसडीएम कोलारस ने इस चने में रेत मिलाते हुए पकडा था।

आज इस गोदाम में रखे जींस चना,मसूर और सरसो आदि की आज शिवपुरी प्रशासन द्धारा नीलामी की कराने की प्रक्रिया को अंजाम दिया गया। इस कारण डिप्टी कलेक्टर आरएस बलोठिया,नान के डीएम डीएम अरूण जैन जिला महाप्रबंधक सरकारी बैक वायके सिंह और  जिला फूड अधिकारी नारायण लाल शर्मा सहित कई कर्मचारी उपस्थित थे।

बताया गया हैं कि इस नीलामी में 3386 क्विटंल चना,416 क्विटंल मसूर,77 क्विटंल सरसो नीलामी के लिए रखी गई थी। इस नीलामी मे शिवपुरी एवं कोलारस के व्यापारियो ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया जिसमे सबसे पहले सरसों की बोली लगाई गई जो सेठ ब्रदर्स द्वारा 3755 रुपये मे खरीदी गई एवं मसूर की सबसे अधिक बोली नमन ट्रेडिंग के द्वारा 3925 रुपये लगाई गई एवं धाकड ट्रेडिंग कंपनी के द्वारा 3525 रुपये चनें की सबसे अधिक बोली लगाई गई।

बताया जा रहा हैं कि उकत अमानक चने की बोली प्रशासन ने लगवाई थी क्यो कि नान इस चने को अमानक घोषित करते हुए किसानो का भुगतान रोक लिया था। लेकिन मामले में अभी यह सवाल खडा हैं कि बाकी बचे डिफरेंस भुगतान कौन करेगा। यह अभी तय नही हैं।

इनका कहना है कि
158 कट्टे नोनएफएक्यू पाए गए थे अधिकारियो ने अपनी मनमर्जी से एफएक्यु माल को नोनएफएक्यु बताकर नीलाम कराया है
लक्ष्मण रावत,पूर्व बेन्हटा सोसाइटी प्रबंधक