Ads 720 x 90

शिवपुरी में पहली बार हुआ बच्चेदानी का सफल ऑपरेशन, सामान्य से डेढ़ गुना था महिला का यूट्रस | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। शिवपुरी के मेडिकल कॉलेज का लाभ अब शिवुपरी वासियो को मिलने लगा हैं। शिवपुरी के जिला अस्पताल में पहली बार महिला की बच्चेदानी का सफल आपरेशन हुआ हैं। अभी तक संसाधनो और डॉक्टर की कमी के चलते ऐसे आपरेशन के लिए जिले से बहार जाना होता था,जिससे मरीज का अधिक पैसा और समय खर्च होता था, लेकिन अब ऐसा नही होगा।

जिला चिकित्सालय में प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. उमा जैन ने बताया कि अब से पहले जिला अस्पताल में उपकरणों का अभाव, एनस्थीसिया देने वाले डॉक्टरों की कमी और महिला डॉक्टरों की कमी होने से अस्पताल में यह ऑपरेशन नहीं होते थे।

बुधवार को पहली बार जिला अस्पताल में मेडिकल कॉलेज की सहायक प्रोफेसर डॉ. शिखा जैन, डाॅ. शैली सेंगर और डॉ. उमा जैन ने मिलकर नियमित रक्तस्राव की समस्या से जूझ रही महिला को बच्चेदानी की गठान की परेशानी से मुक्त कर दिया है।

यूट्रस में गांठ थी इस वजह से हो रही थी ब्लीडिंग

डॉ. जैन ने बताया कि महिला शिवपुरी की रहने वाली है और आम तौर पर महिलाओं में 50 की आयु पर रजोनिवृति आ जाती है और वह मासिक धर्म से नहीं होतीं। लेकिन इस 53 वर्षीय महिला के केस में स्थिति उलट थी।

उसके यूटरेस का आकार सामान्य से डेढ़ गुना अधिक बढ़ गया था जिसमें सिस्ट थी और इसी सिस्ट की वजह से बार-बार उसे ब्लीडिंग की शिकायत हो रही थी। वह लगातार एनीमिक भी होती जा रही थी। ऐसे में महिला को ऑपरेशन की सलाह दी गई और जब उसने हां कर दी तो फिर जरूरी फॉर्मेलिटीज करने के बाद महिला का बुधवार को ऑपरेशन कर दिया गया।

अब जिला चिकित्सालय में नियमित रूप से महिलाओं के यह ऑपरेशन हो सकेंगे। जिससे वह महानगरों के अस्पताल में आने जाने और निजी नर्सिंग होम्स में अनावश्यक पैसा खर्च करने से भी बच सकेंगी।