भाविप की नवीन शाखा वीरांगना का दायित्व ग्रहण समारोह,पलका अध्यक्ष, शिल्पा बनी सचिव | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। सेवा, संस्कार, संपर्क, सहयोग और समर्पण की भावना से जुड़कर समाजहित के कार्यो में सदैव तत्पर भारत विकास परिषद की नवीन महिला शाखा वीरांगना की शिवपुरी में रविवार को शुरुआत हो गई। नगर के होटल नक्षत्र के सभागार में आयोजित दायित्व ग्रहण समारोह के मुख्य अतिथि सीईओ एचपी वर्मा, विशेष अतिथि एडीएम आरएस बालोदिया थे। जबकि कार्यक्रम में शामिल मध्य भारत उतर प्रांत के प्रांतीय अध्य्क्ष विनोद गर्ग ने भाविप के बारे में विस्तार से परिचय कराया।

गर्ग ने कहा कि भाविप का समाजहित मे काम करने का बेहतर अनुभव रहा है। स्वामी विवेकानंद के विचारों को आत्मसात करके हम आगे बढ़ रहे है। कोटा में अस्पताल हो या चंडीगढ़ की पैथोलोजी या फिर डबरा या ग्वालियर का चिलर प्लांट ये सभी भाविप की ही देन है, जिसका लाभ समाज को मिल रहा है। वंदे मातरम और  स्वामी विवेकानद, मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण ओर दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत हुई। मंच से प्रभावी संचालन छवि जैन ने करते हुए बारी बारी से अतिथियों का परिचय देकर स्वागत कराया। बाद में भाविप की नवीन शाखा वीरांगना की अध्य्क्ष पलका सहगल, सचिव शिल्पा माटा, कोषाद्यक्ष रुपाली अग्रवाल सहित संरक्षक रीता विरमानी को शपथ विधि अधिकारी और भाविप के मध्य भारत प्रांत के महासचिव युगल गर्ग ने शपथ दिलाई। इससे पहले वीरांगना शाखा की 50 सदस्यों को भी सामूहिक रूप से शपथ दिलाई गई।

ग्राम स्तर पर भी करें काम- बालोदिया
महिलाओं की नवीन शाखा वीरांगना नगर में सेवा के नए आयाम तय करेगी। आज हर मोर्चे पर महिला आगे हैं। ग्राम स्तर पर भी यदि सेवा की शुरुआत हो तो और भी बेहतर होगा। उन्होंने कहा कि वीरांगना शाखा समाज हित में काम करेगी ऐसी उम्मीद है। जैसे मिलावट को लेकर बीते दिन हमने कुछ कदम उठाए, सुधार भी देखने में आ रहा है। इसी तरह के अन्य कामों में भी हम मिलकर कदम बढ़ाएंगे तो समाज को लाभ होगा।

भाविप के कोटा अस्पताल को लेकर कहा कि जिस हिसाब से जनसंख्या बढ़ रही है, ऐसे अस्पतालों की हमे और जरूरत है,  जो सीमित खर्च में इलाज करते हैं। उन्होंने बताया कि वह ऐसी जगह तैनात रहे जहां गरीबी है, और अगर पत्नी के इलाज पर डॉक्टर 10 हजार मांगते हैं, तो पति कहता है, इतने में तो दूसरी पत्नी ले आएगा। ऐसा इसलिए है, की समाज में गरीब तबका ज्यादा है। इसलिए भाविप की तरह अन्य संगठनों को भी आगे आकर काम करना चाहिए, जिससे समाज को लाभ हो।

महिलाएं राष्ट्रपति से लेकर कलेक्टर तक- सीईओ

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला पंचायत के सीईओ एचपी वर्मा ने कहा कि आज महिलाएं हर मोर्चे पर आगे हैं। राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से लेकर कलेक्टर और हाल ही में पीवी सिंधु ने जिस तरह से देश का नाम रोशन किया है, उससे हमें नाज है। वीरांगना शाखा की शुरुआत एक अच्छा कदम है। भारत विकास परिषद की यह शाखा नए आयाम तय करेगी ऐसा विश्वास है।

उन्होंने कहा कि महिलाएं अगर ठान ले कि समाज को सुधारना है, तो सुधार जरूर आएगा। शिक्षा अनिवार्य है, इससे समाज को हम विकसित कर सकते हैं। संस्कार से जुड़कर कार्य करने वाली भाविप, परिवारों को जोड़ने का काम भी करें। समाज को एक करके काम करें तो न सिर्फ घर, बाहर, देश और प्रदेश सभी का विकास हो सकता है।