आज गांधी चौक पर गरजी थ्रीडी,वर्षो स अतिक्रमण में जमें पटवों की दुकानें हटाई | Shivpuri News

शिवपुरी। शहर के मध्य और मुख्य बाजार गांधी चौक पर वर्षों से पार्क के चारों ओर अवैध रूप से अतिक्रमण कर व्यापार करने वाले पटवों को आज हल्के फुल्के विरोध के बाद नगरपालिका प्रशासन और यातायात पुलिस ने बेदखल कर दिया। इस दौरान नपा की टीम ने हिटैची की सहायता से गांधी चौक पर बनाए गए चबूतरों को तहस नहस कर दिया। वहीं वर्षों पुरानी प्याऊ जो जीर्णशीर्ण हालत में थी उसे भी ध्वस्त कर दिया है। इसके बाद वहां का मलबा भरकर सफाई कर दी।

जिससे वर्षों से अतिक्रमण की चपेट में आया पार्क अस्तित्व में आ गया। इस दौरान कुछ महिलाओं ने डिप्टी कलेक्टर और प्रभारी सीएमओ मनोज गरवाल व यातायात प्रभारी रणवीर यादव से बहस भी की, लेकिन दोनों अधिकारियों ने महिलाओं को समझा बुझाकर शांत किया और आश्वस्त किया कि वह उनके व्यापार को क्षति नहीं पहुंचाएंगे। उनका व्यापार यहां से हटाकर  पुराना बस स्टैण्ड क्षेत्र में स्थानांतरित किया जा रहा है। जहां नगरपालिका उन्हें चबूतरे आज ही तैयार करके दे देगी।

जानकारी के अनुसार डिप्टी कलेक्टर मनोज गरवाल द्वारा सीएमओ का चार्ज लेने के बाद शहर की अतिक्रमण, पेयजल, स्वच्छता को लेकर काम कर रहे हैं और इसी के तहत उन्होंने अतिक्रमण हटाने का अभियान भी छेड़ दिया है। अभी कुछ दिन पूर्व माधव चौक से ग्वालियर बायपास तक के अतिक्रमण हटाए गए  थे और कल सब्जी मण्डी क्षेत्र में भी अतिक्रामकों को चेतावनी दी गई और आज सुबह 7:30 बजे यातायात प्रभारी रणवीर यादव के साथ डिप्टी कलेक्टर मनोज गरवाल, एचओ गोविंद भार्गव, आरआई पूरन कुशवाह, गजेंद्र जैन, हरीश शर्मा सहित नगरपालिका का  दस्ता गांधी चौक पहुंचा  जहां मारवाड़ी भोजनालय पर और  हनुमान मंदिर के पास डंपर और बैरीकेट्स लगाकर रास्ता बंद कर दिया।  

इसके बाद पटवाओं को  वहां से हटने के लिए कहा, लेकिन पटवा वहां से हटने के लिए राजी नहीं हुए। इस दौरान कुछ महिलाएं नगरपालिका के कर्मियों से भिड़ गईं जिन्हें पुलिस ने हटाया। लगभग आधे घंटे  चले इस घटनाक्रम के  बाद नगरपालिका और पुलिस ने सख्ती दिखाई और जेसीबी लगाकर पटवाओं के अस्थायी अतिक्रमण को हटाना शुरू कर दिया। पुलिसकर्मियो ंने वहां मौजूद दुकानदारों से अपने अपने सामान हटाने के लिए कहा और उन्हें चेतावनी दी कि अगर वह सामान नहीं हटाएंगे  तो उसे जप्त कर लिया जाएगा। इसके बाद वहां से सामान हटाया गया। जेसीबी की सहायता से डीपी के पास बनी उस जीर्णशीर्ण प्याऊ को  भी ध्वस्त कर दिया जिसकी आड़ में पटवाओं ने पार्क को चारों ओर से घेरकर अतिक्रमण कर लिया था।

वृद्धा रोते हुए डिप्टी कलेक्टर और यातायात प्रभारी के गले से लगकर रोई
अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही के बाद कुछ महिलाएं कार में बैठे डिप्टी कलेक्टर मनोज गरवाल और यातायात प्रभारी रणवीर यादव के पास पहुंची। इस दौरान महिलाओं ने उन्हें चेतावनी दी जब तक उनकी वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की जाएगी तब तक वह यहां से नहीं हटेंगे। महिला के साथ कुछ अन्य लोग भी वहां आ गए। इसके बाद दोनों अधिकारी कार से नीचे उतरे जिन्हें देखकर उक्त महिला एक एक कर दोनो अधिकारियों के गले से लग गई और रोते हुए उसने अपनी व्यथा बताई।

इस पर दोनों अधिकारियों ने उनसे कहा कि वे उन्हें व्यापार से बेदखल नहीं कर रहे हैं। उन्हें यहां से हटाना जनहित में है उन्हें नवीन स्थान पुराना बस स्टैण्ड व्यापार के लिए दिया गया है जहां आज ही नगरपालिका चबूतरे बनाकर तैयार कर देगी जिस पर वह अपना व्यापार कर सकते हैं।