Ads 720 x 90

विद्यालय में किशोरी बालिकाओं को एनीमिया से बचाव व निदान की दी जानकारी | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। स्वयं सेवी संस्था शक्तिशाली महिला संगठन समिति शिवपुरी के द्वारा महारानी लक्ष्मी बाई शासकीय कन्या उमा विद्यालय कोर्ट रोड़ शिवपुरी में विधालय परिवार एवं जिला स्वास्थ्य समिति के साथ सयुंक्त रुप से मिलकर राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाया गया जिसमें विद्यालय में आने वाली 9वी कक्षा से लेकर 12 वी कक्षा तक की 352 बालिकाओं को एल्बेण्डाजोल की खुराक अपने सामने खिलायी।

इसके साथ साथ संस्था द्वारा छात्राओं में खून की कमी अर्थात एनिमिया से बचाव व निदान विषय पर जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। जिसमें छात्राओं को बताया गया कि आपके खून में हीमोग्लोबिन का लेवल कम से कम 12 से 15  तक होना चाहिये जबकि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच की तो पता चला कि 205 छात्राओं में से केवल 04 छात्राओं का हीमोग्लोबिन का स्तर 11 से अधिक पाया गया बाकि 201 छात्राओं में हीमोग्लोबल का स्तर 11 से बहुत कम था जो कि एक चिंता का विषय है।

सर्वप्रथम विद्यालय परिवार के व्याख्याता अशोक शर्मा एवं श्रीमती शक्ति अवस्थी व्याख्याता द्वारा छात्राओं को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के बारे में जानकारी देते हुये बताया कि यह राष्ट्रीय  कार्यक्रम हैं जो कि आज 8 अगस्त को पूरे भारत में मनाया जा रहा है। 

कृमि सक्रंमण चक्र की रोकथाम के लिए यह गोली सभी छात्राओं को देना आवष्यक हैं हो सकता है आपके पेट में कृमि संक्रमण का प्रभाव तुरंत दिखाई न दे लेकिन आपके के स्वास्थ्य शिक्षा और समंपूर्ण विकास को लंबे समय तक नुकसान पहुंचा सकते है जैसे कि आप सभी छात्राओं में हीमोग्लोबिन का स्तर बहुत कम है।

इसकी एक गोली के सेवन से आपके सम्पूर्ण शारीरिक और मानसिक विकास में मदद मिलती है। इससे खून की कमी में सुधार आता हैं और बेहतर पोषण स्तर होता है। इसके बाद रवि गोयल ने अनिमिया से बचाव व निदान पर अपने उदबोधन में बताया कि पोषक तत्वों की कमी एवं सही खान पान व फल सब्जियों के सही से प्रयोग न करने व फास्ट फूड का ज्यादा प्रयोग करने से आजकल किशोरी बालिकाओं में खून की कमी हो रही हैं।

इसके लिए आपके अपने दैनिक आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां पालक, टमाटर, चुकन्दर का ज्यादा से प्रयोग करें और गुड़ का प्रयोग करें और साप्ताहिक आयरन फोलिक एसिड की गोली का जरुर सेवन करने एवं गोली का सेवन खाना खाने के बाद करें और गोली खाने के 2 घण्टे तक चाय कॉफी का सेवन न करें।

कार्यक्रम में क्लास क्लास जाकर 350 छात्राओं को जागरुक किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय परिवार, स्वयं सेवी संस्था की सक्रिय टीम, स्वास्थ्य विभाग के सुनील जैन का विषेश सहयोग रहा।