Ads 720 x 90

बडी खबर: 8 th CLASS क्लास की छात्रा बनी मां, घर में अकेली देखकर जीजा ने बलात्कार किया था

बदरवास। खबर जिले के बदरवास थाना क्षेत्र से आ रही है। जहां बीते रोज उपस्वास्थ्य केन्द्र में कक्षा 8 की 15 वर्षीय छात्रा ने अस्पताल में एक बच्ची को जन्म दिया है। परिजन मासूम के पेट में दर्द होने के चलते अस्पलात में लेकर आए थे। जहां चिकित्सकों ने मासूम का परीक्षण किया तो उसके गर्भ में 9 माह का मासूम पल रहा था। जिसपर चिकित्सकों ने उक्त मामले की सूचना थाना प्रभारी सतीश चौहान को दी। जहां पुलिस मौके पर पहुंची उसके बाद मासूम की सुरक्षित डिलेबरी हुई। जहां मासूम ने एक बच्ची को जन्म दिया है।

जानकारी के अनुसार बीते रोज बदरवास थाना प्रभारी सतीश चौहान को सूचना मिली कि अस्पताल में एक 15 वर्षीय मासूम आई है जिसके पेट में 9 माह का गर्भ है। इस सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और पुलिस के पहुंचने के बाद उक्त किशोरी की सुरक्षित डिलेवरी कराई जहां मासूम ने एक बेटी को जन्म दिया। उसके बाद दोनों को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। परिजन इस मामले में अज्ञात आरोपी पर रेप का आरोप लगा रहे थे।

उसके बाद पुलिस ने उक्त मासूम के बयान लिए तो सामने आया कि लगभग 9 माह पहले मासूम का ही जीजा भरत पुत्र गजनलाल जाटव निवासी सोनपुरा घर पर आया हुआ था। उस समय घर पर किशोरी के माता पिता नहीं थे। जहां अकेली किशोरी को देखकर आरोपी जीजा का संतुलन खो गया और उसने रिश्तों को तारतार करते हुए अपनी ही साली के साथ रेप की बारदात को अंजाम दिया। साथ ही आरोपी ने उक्त पूरे घटनाक्रम से किसी को भी बताने पर जान से मारने की धमकी दी।

अपने परिवार की बदनामी के डर से मासूम ने उक्त पूरा घटनाक्रम अपने दिल में छुपाए रखा। परंतु बीते रोज उसके पेट में असहनीय दर्द हुआ। जिसपर किशोरी के परिजन किशोरी को लेकर बदरवास उपस्वास्थ्य केन्द्र पर पहुंचे। जहां बीएमओ सुधीर कश्यप की टीम ने उक्त मासूम का परीक्षण किया तो सामने आया कि उक्त किशोरी के पेट में 9 माह का गर्भ है। जब उक्त बात किशोरी के परिजनों को बताई तो उसके पेरों तले जमींन खिसक गई। इस मामले में पुलिस ने युवती के बयानों के बाद आरोपी जीजा भरत के खिलाफ धारा 376,506 बी 3 4 पोस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया है।