बडी खबर: चुनाव से पहले ट्रांसफार्मर रखवाया, हारे तो उठाने आ गए, ग्रामीणों ने खदेड़ा | Badarwas News

बदरवास। आज की सबसे बडी खबर जिले के कोलारस अनुविभाग के कंचनपुरा गांव से आ रही है। जहां चुनाव से पहले रखे गए ट्रांसफार्मर को उठाने आए बिजली विभाग के कर्मचारीयों को ग्रामीणों ने खदेड दिया। इस दौरान कर्मचारी बमुश्किल जान बचाकर वहां से उल्टे पैर भागे। बिजली बिभाग के कर्मचारी अपनी दो बाईके और कार छोडकर नंगे पैर ही भागे कर पुलिस के पास पहुंचे।

जानकारी के अनुसार लोकसभा चुनाव से पहले बोटों के ठेकेदार कंचनपुरा गांव मे पहुंचे। जहां ग्रामीणों ने बस्ती में लाईट नहीं होने की बात कही। जिसपर से बोट के ठेकेदारों ने गांव में लाईट नहीं होने पर तत्काल में ट्रांसफार्मर रखबा दिया। उसके बाद से लगातार लाईट जल रही थी। परंतु आज दोपहर अचानक कुछ लोग पहुंचे और ग्रामीणो से कहने लगे कि आपके यहां से हम हारे है। इस कारण से आपका ट्रांसफार्मर उठाकर ले जा रहे है।

इस बात को लेकर ग्रामीणों और उक्त लोगों में विबाद हो गया। इस विबाद के बाद आए एक युवक ने ग्रामीण में थप्पड मार दिया। आदिवासी में थप्पड पडते ही पूरे गांव के आदिवासी एकजुट हो गए और उन्होंने उक्त लोगों को खदेड दिया। इस दौरान ग्रामीणों को हावी देखकर उक्त लोगों ने अपनी बाईक और कार छोडकर नंगे पैर ही दौड लगा दी।

उसके बाद उक्त लोग बदरवास थाने पहुंचे है। बताया जा रहा है कि उक्त ट्रांसफार्मर चुनाव से पहले इस पंचायत की दूसरी बस्ती के लिए मंजूर हो गया था। परंतु उस गांव में पहले से लाईट थी और कंचनपुरा में लाईट नहीं थी। जिसके चलते आज विद्युत विभाग की टीम वहां पहुंची और उस ट्रांसफार्मर को उठा कर मंजूर बाली बस्ती मे ले जाने लगी। जिसपर ग्रामीण आक्रोशित हो गए।

इनका कहना है
आदिवासी अब पहले जैसे नहीं है। वह अपना अच्छा बुरा अच्छी तरह से पहचानने लगे है। पहले तो बोट के ठेकेदारों ने ट्रांसफार्मर रखबा दिया। अब उसे उठाने आ गए। जब पूरे ग्रामीणों ने विरोध किया तो भाग गए। अब आदिवासीयों की पुकार थाने में नहीं सुनी जा रही। यह आदिवासीयों के साथ अन्याय है। महिलाए इस मामले की शिकायत करने थाने पहुंची थी। परंतु वहां से इन्हें भगा दिया गया है।
संजय बैचेन,संयोजक सहरिया क्रांति

हां आज बिजली विभाग की टीम आई थी। जिसे ट्रांसफार्मर उठाना था। हमने उन्हें बल दिया। उसके बाद टीम ट्रांसफार्मर को लेकर आ गई। कार और बाईक छोडने की बात तो मेरे सामने नहीं आई है।
राजीव त्रिपाठी,थाना प्रभारी बदरवास।

आज अज्ञात लोग ट्रेक्टर,दो कार और बाईकों से डीपी उठाने आए थे। हमने डीपी उठाने का विरोध किया हमपर उन लोगों ने हम पर हमला बोल दिया,जब पूरा गांव इक्कठ्ठा हुआ तो वह कार और बाईक छोडकर भाग गए
रातिराम आदिवासी,ग्रामीण ग्राम कंचनपुरा