श्री गणेश बेयर हाउस, चना खरीदी में भ्रष्टाचार: 1500 बोरी अमानक चना खरीद लिया | Badarwas News

सतेन्द्र उपाध्याय/शिवपुरी। खबर जिले के बदरवास में स्थिति श्री गणेशाय नम: बेयर हाउस से आ रही है। जहां बीते रोज खुले में चल रही खरीदी के बाद प्रशासन ने लगभग 1500 बोरी अमानक चना पकडा है। उक्त चने को समिति प्रबंधक तोल के साथ खफाने की जुगत में है। इस मामले में सबसे अहम बात यह है कि प्रशासन के पकडे जाने के बाद भी आज दिनांक तक उक्त अमानक चने को बदामद कर हटाया नहीं गया है। इस पूरे घपले में तहसील से लेकर जिले के अधिकारी भी लिप्त दिखाई दे रहे है।

जानकारी के अनुसार बीते रोज शिवपुरी समाचार डॉट कॉम को सूचना मिली कि बदरवास के श्री गणेश वेयर हाउस में अमानक चने की खरीद कर खुले में रखा जा रहा है। इस सूचना पर शिवपुरी समाचार डॉट कॉम की टीम पहुंची और जाकर देखा तो खुले में पानी बरसने के इंतजार में लगभग 3000 बोरी चना रखा हुआ है। जब उक्त बोरीयों को गंभीरता से देखा तो सामने आया कि इसमें चना तो न के बराबर रेशों में था। जबकि उक्त बोरीयों में मिट्टी और कचरा भरा हुआ था।

खरीद के नाम पर प्रशासन को लगभग 1 करोड का चूना समिति प्रबंधक ने लगाया है। इस मामले में जब वेयर हाउस के मालिक से चर्चा की तो सामने आया कि उक्त समिति प्रबंधक ने उक्त माल को जबरन गोदाम में रखबाया है। मीडिया ने तत्काल इस मामले की सूचना डीआर भदौरिया को दी। भदौरिया को सूचना देने के लगभग 3 घण्टे बाद यहां डीआर कार्यालय की टीम में मुकेश सक्सेना और सीईओ पहुंचे और महज खानापूर्ति कर चलती बनी। जब टीम से कहा कि उक्त पूरा माल तो पूरी तरह से अमानक है तो उन्होंने भी उक्त बात को स्वीकार किया। और मामले में अमानक का पंचनामा बनाकर वहां से चले आए।

अब इस अमानक चने को ठिकाने लगाने की जुगत में समिति प्रबंधक घूम रहा है। बताया जा रहा है कि उक्त समिति प्रबंधक ब्रजराज रघुवंशी क्षेत्र का दबंग समिति संचालक है। जो लुकवासा सहित बदरवास क्षेत्र में चने में बजरी और पत्थर सहित मिट्टी मिलाकर खफाने की गुजत में है। इस मामले को लेकर पहले भी लुकवासा मण्डी में गोदाम के मालिक ने कलेक्टर से इसकी कारगुजारी की शिकायत की थी। परंतु उसके बाद गोदाम को बंद कर खरीदी बंद कर दी गई थी।

बताया जा रहा है कि उच्च अधिकारीयों को मेनेज कर इस पूरे मामले को रफा दफा करने की तैयारी चल रही है। अगर बारीकी से जांच की जाए तो जिले भर में प्रतिदिन खरीदी के नाम पर करोडों रूपए की चपत प्रशासन को लगाई जा रही है।

इनका कहना है
हां मेने टीम भेजी थी। जिसमें हमारा सक्सेना गया हुआ था। उसने मुझे मौखिक रूप से बताया था कि यहां पूरा चना खुले में और अमानक पडा हुआ है। परंतु उसने अभी जांच रिपोर्ट नहीं दी है। अब जांच रिपोर्ट आ जाने के बाद ही में कुछ कार्यवाही कर पाउंगा।
सीपी भदौरिया,डीआर खरीद शिवपुरी।

आप इस पंचनामें की कॉपी मेरे पास भेज दीजिए,में इस मामले को कल ही प्रमुखता से दिखवाता हूं। साथ ही इस मामले में अभी मुकेश से भी बात करता हूं कि उसने क्या रिपोर्ट बनाई है।
आशीष तिवारी,आईएएस,एसडीएम कोलारस।

उक्त वेयर हाउस की शिकायतें हमें भी मिल रही है। हम इस मामले की रिपोर्ट मंगा रहे है। उक्त सोसाईटी ने पहले भी कुछ घटनाएं की थी। में इस मामले में कल एसडीएम को भेजकर कार्यवाही कराती हूं। पूरे जिले में चार पांच सोसाईटियों ने गडबड की है। हम इसे दिखबाकर कार्यवाही करा रहे है।
अनुग्रह पी,कलेक्टर शिवपुरी।