SHIVPURI NEWS - कांग्रेस के पूर्व विधायक केपी सिंह की ईडी से जांच कराने पर मामला दर्ज कराने दिया ज्ञापन

Bhopal Samachar

पिछोर। पिछोर नगर पिछोर के छत्रसाल स्टेडियम में शुक्रवार शाम को पिछोर खनियाधाना के सैकड़ों किसानों ने चंदेरी बामोर के पास दिदावनी गांव में लगभग 2700 करोड़ रुपए से अधिक की राशि से बन रहे उर नदी बांध वृहद परियोजना की नहर से प्रभावित होने वाले किसानों ने योजना में बड़ी तादाद में हो चुके भ्रष्टाचार और मुआवजे को लेकर रैली निकालकर जंगी धरना प्रदर्शन और आंदोलन किया।

आंदोलनकारियों ने स्थानीय भाजपा विधायक प्रीतम सिंह लोधी समेत केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य  सिंधिया के नाम 11 बिंदुओं को लेकर एक ज्ञापन सौंपा किसानों ने एक स्वर में पूर्व क्षेत्रीय कांग्रेस विधायक केपी सिंह कक्काजू को भ्रष्टाचार के कटघरे में खड़ा करते हुए उनकी चल अचल संपत्ति की जांच ईडी से करने की मांग की।

इसके अलावा छत्रसाल स्टेडियम में किसानों के इस लंबे समय तक चले धरना प्रदर्शन और आंदोलन में किसानों ने ज्ञापन में उल्लेख किया कि केपी सिंह विधायक ने अपने चहेतों से नहर परियोजना की मुआवजा राशि में भ्रष्टाचार किया है उक्त कांग्रेस विधायक ने गरीब अपात्र किसानों को डरा धमका कर उनके खातों में लाखों रुपए का भुगतान कराया और बाद में यही रुपए वापस भी ले लिए गए।
 
पूर्व विधायक के.पी.सिंह द्वारा उर नहर परियोजना में मुआवजा राशि को हड़पने व शासकीय पैसे के गबन (लूट) करने के लिये अपने नजदीकी ठेकेदार और अपने करीबी रूप सिंह परिहार को आउटसोर्स कम्प्यूटर ऑपरेटर के पद पर पदस्थ कराने एवं उसके माध्यम से मुआवजा राशि का गबन (लूट) किया गया कक्काजू के द्वारा ठेकेदार व कम्प्यूटर ऑपरेटर से रिश्वत के रूप में दो करोड़ की कार गिफ्ट में ली गई किसानों ने कहा एक किसान रूप सिंह के पास कुछ ही समय में करोड़ों रुपए कैसे कहां से आए।

उसके द्वारा लगभग 1 करोड़ रू और खर्च कर छत्रसाल स्टेडियम में कथावाचक जया किशोरी की भागवत कथा का आयोजन किया गया, जिसमें पूर्व विधायक कक्काजू प्रतिदिन मौजूद रहे और आयोजन का पूरा श्रेय लिया यह कार्य उनके (संरक्षण) के बिना संभव नहीं था ई.डी. के माध्यम से पूर्व विधायक के.पी. सिंह की घोषित अघोषित, चल-अचल सम्पति की जांच की जाए इसके अलावा गत वर्षो तहसील पिछोर में हुए सूखा राहत घोटाले में पूर्व विधायक के द्वारा घोटाला करवाया गया कमीशन खाया गया।

उनकी संदिग्ध भूमिका की उच्च स्तरीय जांच की जाए उन्हें आरोपी बनाया जाए उर नहर परियोजना भ्रष्टाचार में एक छोटे व्यक्ति पर पूरा आरोप लगाया गया लेकिन वह तो एक छोटी मछली है इसमें के.पी.सिंह कक्काजू जैसे कई और बड़े-बड़े मगरमच्छ शामिल हैं जिसकी उच्च स्तरीय जांच की जाए एवं आरोपी बनाया जाए इतना ही नहीं किसानों ने अपने मांग में कहा कि जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं हो जाती तब तक मण्टेना कंपनी में तालाबंदी की जाए पूर्व विधायक के.पी.सिंह को उर नहर परियोजना घोटाले में मुख्य आरोपी बनाया जाए किसानों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि 1 माह के भीतर हमारी मांगों पर कार्यवाही नही की गई तो हम प्रदेश व्यापी हड़ताल करेंगे, और किसान अपने हक के लिए सड़क पर उतरेगा।
G-W2F7VGPV5M