SHIVPURI NEWS - मृत्यु के बाद भी राह आसान नही, न टीन शेड न बाउंड्री, ना हीं है कोई मुक्तिधाम में सुविधा

Bhopal Samachar

पोहरी। जिले में शासन की विभिन्न योजनाओं के हवाले से भले ही विकास के बड़े-बड़े वादे किए जा रहे हों लेकिन सच्चाई इससे अलग है। पोहरी जनपद के अंतर्गत आने वाली पंचायत डिगडोली गांव में एक मात्र मुक्तिधाम सुविधाओं से वंचित चल रहा है। जहां पर न तो टीन शेड है और न ही बाउंड्री बॉल जिससे ग्रामीणों को खुले में अंतिम संस्कार करना पड़ रहा है।

जानकारी के अनुसार पोहरी जनपद के अंतर्गत आने वाली पंचायत डिगडोली में अभी तक मुक्तिधाम नहीं बन पाया है गांव के लोगों द्वारा गांव से बाहर खुले में अंतिम संस्कार किया जा रहा है। यहां पर तीन मुक्तिधाम है जिसमें बाथम एवं आदिवासी समाज के अलग अलग मुक्तिधाम है जो नदी किनारे मैदान पर बने हुए है वहीं कुशवाह एवं जाटव समाज का एक ही मुक्तिधाम है जो गांव के बाहर टुकी वाले रास्ते पर बना है। लगभग 1200 आबादी वाले इस गांव में तीनों मुक्तिधाम जरूरी सुविधाओं से

वंचित है जहां पर नदी किनारे बने मुक्तिधाम सिर्फ मैदान में है वहीं टुकी वाले रास्ते पर बना मुक्तिधाम मात्र एक पत्थरों के चबूतरे पर बना हुआ है। तीनों ही मुक्तिधाम में न ही टीन शेड बनाया गया न ही वहां पर किसी तरह की बाउंड्री वाल बनाई गई है। न ग्रामीणों को बैठने के लिए कोई स्थान है न ही पानी या लाइट की कोई व्यवस्था है।

1200 के लगभग आबादी वाले उस गांव में शासन ने आज तक सुविधाओं वाला मुक्तिधाम बनाया ही नहीं है जिससे ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ा है। गांव में मुक्तिधाम न होने से ग्रामीणों को बरसात के दिनों में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों की इस परेशानी की ओर प्रशासन के अधिकारी कर्मचारी कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। गांव में मुक्तिधाम न होने से ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। सर्दी, गर्मी के मौसम में तो खुले में अंतिम संस्कार करने में कोई परेशानी नहीं आती लेकिन बरसात के दिनों में ग्रामीणों को अंतिम संस्कार करने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

खुले में करना पड़ता है अंतिम संस्कार

हमें गांव में मुक्तिधाम न होने से काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है गांव के बाहर खुले मैदान में अंतिम संस्कार करना पड़ता है सर्दी गर्मी में तो फिर भी चल जाता है बरसातों के दिनों में हमें दिक्कतों का सामना करना पड़ता है पर हमारी कि सुनने वाला कोई नहीं है। कैलाश कुशवाह, ग्रामीण डिगडोली 
यह कहा सचिव ने मुझे वहां के मुक्तिधाम की जानकारी नहीं है आप सहायक सचिव से बात कर लीजिए, मैं अभी ग्वालियर हूं। राजकुमार पौराणिक, पंचायत सचिव डिगडोली

टीन शेड और बाउंड्रीवाल जल्द ही बनवाएंगे

ग्राम पंचायत में दिखवा लेता हूं वहां क्या स्थिति है। अगर टीन शेड ओर बाउंड्रीवाल नहीं है तो वहां पर जल्द ही बनाए जाएंगे। शैलेन्द्र सिंह, जनपद सीईओ पोहरी
G-W2F7VGPV5M