SHIVPURI SAMACHAR की खबर का असर - 2 परीक्षा केंद्र के पर्यवेक्षक हटाए गए , BEO को नोटिस

Bhopal Samachar
शिवपुरी। सोमवार से मप्र शिक्षा मंडल के बोर्ड एग्जाम शुरू होने वाले है। एग्जाम में नकल रोकने के लिए शिक्षा विभाग पूरी कोशिश कर रहा है,लेकिन पोहरी विधानसभा के दो सेंटर पर नकल को निर्बाध रूप से संपन्न कराने के लिए नकल माफिया ने पूरी जमावट कर ली थी,इस जमावट को लेकर शिवपुरी समाचार ने पोहरी के सेंटरों पर होगी नकल कलेक्टर के पास पहुंचा डाटा, शिक्षकों को बदलने की मांग शीर्षक से खबर का प्रकाशन किया था,इस खबर पर शिक्षा विभाग ने सत्यता की मुहर लगाते हुए इन दोनों सेंटरों पर पर्यवेक्षक की ड्यूटी कैंसिल कर दी वही इस मामले में नकल माफिया से जमावट करने वाली पोहरी बीईओ को मोतीलाल खंगार को नोटिस भी दिया है।

सबसे पहले पढे आज शिक्षा विभाग ने क्या किया

शिक्षा विभाग ने शिवपुरी समाचार डॉट कॉम की प्रकाशित खबर के बाद कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी जिला शिवपुरी से एक पत्र क्रमांक परीक्षा 2024 661 बनाम विकास खंड अधिकारी पोहरी श्री मोतीलाल खंगार को कारण बताओं सूचना पत्र जारी किया। इस पत्र में स्पष्ट लिखा गया कि पोहरी के भटनावर परीक्षा केंद्र पर पोहरी बीईओ द्वारा भेजी गई 42 पर्यवेक्षकों की सूची में महज तीन महिला पर्यवेक्षक लगाने और अधिकांश पुरुष शिक्षक 20 से 30 किमी दूर स्थित बैराड़ संकुल के अंतर्गत आने वाले विद्यालयों के लगाए जाने को लेकर न केवल नाराजगी जताई है।

बीईओ खंगार को जारी नोटिस में जिला शिक्षा अधिकारी ने उल्लेख किया है कि 11 जनवरी को बोर्ड परीक्षा केंद्रों पर निर्धारित छात्र संख्या के मान से पर्यवेक्षण हेतु पर्याप्त महिला शिक्षकों व पुरुष शिक्षकों की जानकारी कलेक्टर की अध्यक्षता में निर्धारित समिति के अनुमोदन हेतु चाही गई थी, जिसमें बीईओ खंगार द्वारा भटनावर परीक्षा केंद्र के लिए प्रस्तुत 42 पर्यवेक्षकों की सूची में गंभीर अनियमितताएं परिलक्षित हुई हैं।

जिससे स्पष्ट है कि पर्यवेक्षक सूची पूर्ण पारदर्शिता, सूचिता एवं बोर्ड के निर्देशों के अनुसार तैयार नहीं की गई। यह कृत्य मंडल के निर्देशों के विपरीत व कदाचरण की श्रेणी में आता है और मंडल परीक्षाओं को प्रभावित करने की मंशा भी प्रतीत होती है। डीईओ ने बीईओ खंगार को तत्काल नियमानुसार पर्यवेक्षकों की नियुक्ति करने व समक्ष में उपस्थित होकर इस लापरवाही पर जवाब तलब किया है। प्रतिकूल स्थिति पर एक पक्षीय कार्रवाई प्रस्तावित करने की बात नोटिस के माध्यम से कही गई है। वही शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पोहरी पर नए पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं।

अब समझे कैसे जमावट की थी नकल माफिया ने

बैराड में स्थित लॉर्ड लखेश्वर और अमन पब्लिक स्कूल जो नकल माफिया के रूप में जाने जाते है। इससे पूर्व लॉर्ड लखेश्वर स्कूल के बच्चे गोवर्धन सेंटर पर पेपर देने जाते है उस समय के डीपीसी शिरोमणि दुबे ने इस सेंटर को निरस्त किया था।

वही इस बार नकल माफिया ने इस सेंटर को गाजीगढ बनवाने का प्रयास किया था लेकिन गाजीगढ सेंटर बनाने पर भी आपत्ति दर्ज हुई थी। इसलिए गाजीगढ सेंटर को भी निरस्त कर दिया गया। श्री धाकड़ का कहना है कि लॉर्ड लखेश्वर स्कूल के बच्चे इस बार भटनावर स्थित सेंटर में पेपर देगें लेकिन इस सेंटर पर जो शिक्षकों की ड्यूटी बैराड़ संकुल के शिक्षकों की लगाई है,यह वही शिक्षक है जिनकी ड्यूटी गोवर्धन परीक्षाओं में लगी थी। नकल माफिया भटनावर सेंटर पर अपने पसंद की शिक्षकों की ड्यूटी लगवाने में सफल हो गया है। इसी प्रकार पोहरी के परीक्षा सेंटर पर भी नकल माफिया ने अपने पसंद के शिक्षकों की ड्यूटी लगा दी है।

अगर शिक्षा विभाग के नियम की बात करे तो माध्यमिक शिक्षा मंडल के स्पष्ट निर्देश है कि परीक्षा में पर्यवेक्षक शिक्षक स्थानीय जन शिक्षा केन्द्र या संकुल के होना चाहिए,लेकिन यहां नकल की जमावट के लिए भटनावर परीक्षा केन्द्र पर बैराड़,गाजीगढ और गोवर्धन के संकुल केन्द्र के शिक्षकों की ड्यूटी लगाई है जो नियम विरुद्ध है। अब इन शिक्षकों को परीक्षा ड्यूटी से हटा दिया है,अब नए स्तर से ड्यूटी लगाई गई है।
G-W2F7VGPV5M