सिटी कोतवाल विनय यादव की IG से शिकायत, भूमाफिया राजीव गुप्ता को बचाने का आरोप

Bhopal Samachar

शिवपुरी। एक प्लॉट को कई लोगो को बेचने वाले शिवपुरी के भूमाफिया राजीव गुप्ता पर कई मामले सिटी कोतवाली में दर्ज होने के बाद भी गिरफ्तार नही होने के कारण कोतवाली पुलिस की कार्यप्रणाली पर उंगली उठ रही है। सिटी कोतवाली में राजीव गुप्ता और चार और उसके भाई पर संजय गुप्ता पर धोखाधडी करने के मामले दर्ज हो चुके है।

इसके बाद भी पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया। पुलिस का तर्क है कि उसके ऊपर धारा 420 के तहत एफआईआर दर्ज है और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार उसमें गिरफ्तारी नहीं बनती है। हालांकि इसमें विवेचक आवश्यकता पड़ने पर गिरफ्तार भी कर सकते हैं। राजीव गुप्ता को गिरफ्तार नहीं करने पर नितिन शर्मा ने आईजी के पास शिकायत दर्ज कराई है। कोतवाली थाना प्रभारी विनय यादव पर आरोपित को बचाने के आरोप लगाए हैं।

ग्वालियर आईजी को दर्ज शिकायत में उल्लेख किया गया है कि आरोपीगण द्वारा षड्यंत्र पूर्वक उक्त कृषि भूमि को क्रय कर उस पर बिना डायवर्सन कराए या किसी अनुमति के कूटरचित दस्तावेजों से फर्जी तरीके से प्लाटों का विक्रय कर दिया गया है। इसके दस्तावेज कोतवाली प्रभारी विनय यादव को भी उपलब्ध कराए गए हैं। लेकिन विनय यादव ने इसका जब्ती पत्रक नहीं बनाया।

फरियादी ने आशंका जताई है कि विनय यादव दस्तावेजों को खुर्द बुदं कर सकते हैं। उसके द्वारा यहां तक आरोप लगाए गए हैं कि विनय यादव और आरोपित राजीव गुप्ता को बाजार में साथ में घूमते देखा गया है। नितिन के अनुसार थाना प्रभारी ने उन्हें धमकी दी है कि यदि राजीनामा नहीं किया तो तुम पर ही झूठे मुकदमे लगा देंगे। फरियादी ने मांग की है कि मामले की जांच किसी स्वतंत्र वरिष्ठ अधिकारी से कराई जाए जिससे न्यायोचित कार्रवाई हो।

इनका कहना है
शिकायत पूर्णतः निराधार है, मेरे द्वारा नियमानुसार कार्रवाई की गई है। नितिन चाहता था कि पुलिस उसके हिसाब से कार्रवाई करे, लेकिन जो कानून है उसके बाहर जाकर तो कार्रवाई नहीं की जा सकती।
विनय यादव, कोतवाली थाना प्रभारी
G-W2F7VGPV5M