SHIVPURI NEWS - सॉफ्टवेयर इंजीनियर के बैंक अकाउंट में ठग ने 21 लाख का लोन लिया और खाता खाली कर दिया

Bhopal Samachar

शिवपुरी। खबर आप और हम सबको हैरान करने वाली है,कि ऑनलाइन ठगो  ने एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के साथ 21 लाख रुपए की ऑनलाइन ठगी को अंजाम दिया है। ठगी इतनी सफाई से की गई इंजीनियर को भी 24 घंटे बाद पता चल कि किसी अज्ञात ठग ने उसके खाते में 21 लाख रुपए का लोन भी ले लिया और 21 लाख रुपए अन्य खातों में ट्रांसफर कर दिया। इस इंजीनियर के पिता ने इसकी शिकायत आज एसपी ऑफिस में आकर की है।

जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के शिव शक्ति नगर के रहने वाले शिक्षक नगेंद्र रघुवंशी ने बताया कि उसका बेटा नितांत रघुवंशी सॉफ्टवेयर इंजीनियर है जो दिल्ली में रहकर नौकरी कर रहा है,निशांत रघुवंशी ने एक आनलाइन सॉफ्टवेयर परचेज किया था जिसकी कीमत 30 हजार रुपए थी। नितांत की इस कंपनी से पहली डिलिंग थी। नितांत ने अपने आईसीआईसीआई के खाते से 30 हजार रुपए ट्रांसफर सॉफ्टवेयर बनाने वाली कंपनी को किया था।

नितांत ने शिवपुरी समाचार को बताया कि वहां से उसे लिंक प्राप्त हुई थी जिसको ऐक्सेस करने के बाद यह डील फायनल हुई थी। इसके बाद इस कंपनी ने उसके 25 हजार रुपए अतिरिक्त उसके खाते से उडा लिया। बात करने पर कहा गया कि गलती से पैसे आ गए है आप भेजी गई लिंक को ओपन करे,जैसे जैसे मैसेज मिलते गए वैसे वैसे नितात करता गया। उसके बाद उसके पैसे वापस आ गए।

इस घटना के 48 घंटे बाद नितांत के पास मैसेज आए कि उसके खाते से 21 लाख रुपए की लेन देन हुआ है। पता करने पर जानकारी मिली थी कि उसके बैंक के खाते में लगभग 21 लाख रुपए का लोन हुआ है और उसके बाद पांच से 6 ट्रांजेक्शन में वह पैसा भी गायब हो गया।

नितात रघुवंशी ने बताया कि जिस खाते से सॉफ्टवेयर कंपनी को पेमेंट किया था उसी खाते में लोन हुआ है। नितात ने बताया कि उसके चार पांच कंपनियों से लोन ऑफर मिल रहे थे वह इस एक्सेप्ट हो गए वही उकसे क्रेडिट कार्ड पर भी लोन मिल गए यह कार्ड भी इसी खाते से कनेक्ट था। इसमें अधिकतम लोन आईसीआईसीआई बैंक से मिले है।

इन लॉन की किसी भी प्रकार की नितात ने अप्रूवल नही दी थी और ना ही किसी भी प्रकार के क्रेडिट डेबिट के उसके पास मैसेज आए थे। यह सब मेससे उसके मोबाइल पर 24 से 48 घंटे बाद आए है।  



G-W2F7VGPV5M