SHIVPURI NEWS - सेंट चार्ल्स स्कूल की छत से पानी आता था बच्चों ने न्यायाधीश को बताया, प्रिंसिपल को कोर्ट जाना पड़ा

Bhopal Samachar
शिवपुरी। स्कूल की बसों पर सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन निर्धारित की गई है,लेकिन स्कूल के संचालक लगातार इस गाइडलाइन का उल्लंघन की जा रही है इसकी कारण आज स्कूली बसों की मजिस्ट्रेट चेकिंग की गई। जिसमें 65 बसों को चेक किया गया, बसों में सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन टूटी हुई थी। जिन पर कार्यवाही की गई

आज माननीय न्यायालय श्री अमित प्रताप सिंह ने न्यायिक न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी के नेतृत्व में स्कूल बसों की चेकिंग हेतु मोबाइल कोर्ट लगाया गया। जिसमें विभिन्न स्कूलों की 65 बसों को चेक किया गया। जिसमें कई कमियां पाई गई।

बस क्रमांक MP06 P-1163 सेंट चार्ल्स स्कूल की यह बस रेलवे स्टेशन पर मजिस्ट्रेट सर द्वारा चेक की गई तो बच्चों द्वारा श्री अमित प्रताप सिंह न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी को बताया गया कि हमारी बस में बच्चे कई बार खड़े होकर आते हैं और अंकल से कुछ कहो तो वे हमें डांटते हैं जब बरसात होती है तो बस में पानी आता है जिससे हमारे बैग और किताबें गीली हो जाती हैं कई बार स्कूल प्रबंधन से इसकी शिकायत की गई लेकिन प्रिंसिपल मैडम ने भी इस और कोई ध्यान नहीं दिया।

इस पर श्री अमित प्रताप सिंह नाराज हुए और सेंट चार्ल्स स्कूल की प्रिंसिपल को आज 11:00 बजे न्यायालय में हाजिर किया और उन्हें सख्त हिदायत दी है कि अगर अगली बार आपकी बसों में किसी प्रकार की कोई कमी या शिकायत मिली तो आपकी बसों को न्यायलय द्वारा सीज कर दिया जाएगा।

वह MP33T 0660 वेदांता स्कूल की यह बस बिना बीमा और रजिस्ट्रेशन,परमिट की थी। इस बस में चेकिंग के दौरान बस में फस्ट एड बॉक्स,बिना अग्निशमन यंत्र,प्रदूषण का प्रमाण पत्र,फिटनिस,बिना कैमरा की थी इस बस का ड्रायर वर्दी भी नही पहने था और बेज भी नहीं लगाया था,कुल मिलाकर इस बस में नियम का एक भी काम नहीं था।

MP33P 0705 सरस्वती विद्या पीठ स्कूल इस बस का ड्राइवर चन्द्रभान सिंह बिना वर्दी और नेम प्लेट का था। वही शिवपुरी ग्लोबल स्कूल की बस MP33P 0662 का ड्रायवर के पास वर्दी नहीं थी और बस की फिटनिस भी नही थी,होली वडस स्कूल की बस क्रमांक MP33P 0662 को ड्राइवर वर्दी नहीं पहना था और नेम प्लेट भी नहीं थी। इसी स्कूल की एक ओर बस क्रमांक एमपी 16 पी 0203 का ड्राइवर विकास बिना वर्दी और बिना नेम प्लेट का था।

शिवपुरी पब्लिक स्कूल की बस क्रमांक MP33P 0452 का ड्राइवर दामोदर का ड्रायवर के वर्दी नहीं थी नेम प्लेट और बिना वर्दी का था वही बस में कोई भी टीचर स्टाफ मौजूद नहीं था।

सेंट चार्ल्स स्कूल की बस क्रमांक MP33P 0352 का ड्राइवर बिना वर्दी,नेम प्लेट,लाइसेंस के था। साथ में बस का रजिस्ट्रेशन,परमिट और बीमा भी नही था साथ में कोई भी टीचर नहीं था। सेंट चार्ल्स स्कूल की बस क्रमांक MP 09 एफ ए 4090 के चालक शकीर खान की नेम प्लेट टूटी थी और बस मे कैमरा नहीं था। इसी स्कूल की एक और बस एमपी 09 एफ ए 3349 बिना परमिट की थी।

हैप्पी डेज स्कूल की बस क्रमांक MP33P 0778 की बस का ड्रायवर कालीचरण कुशवाह वर्दी पहने था, लेकिन बस बिना परमिट,फिटनेस,नंबर,प्रदुषण पत्र और टीचर नही था। इसी स्कूल की एक ओर बस बिना नंबर की थी और इस पर परमिट नही था।

जीके हेरिटेज स्कूल की बस एमपी 33 पी 0621 की बस पर नंबर प्लेट नियमानुसार नही थी और बस की फिटनेस नहीं थी। इसी स्कूल की एक ओर बस एमपी 33 पी 0588 के ड्रायवर के पास लाइसेंस,वर्दी ओर वेज नही था और बस में कैमरा भी नहीं था।

सरस्वती विद्या पीठ स्कूल की बस MP33P 0705 की बस पर नंबर नहीं थी और एमजेंसी विंडो खराब थी। वही जीके हैरिटेज स्कूल की बस क्रमांक MP33 ZC 0574 बिना कैमरे की थी। कुल मिलाकर सबसे अधिक स्कूल की बसों की फिटनेस नहीं थी।
G-W2F7VGPV5M