किक्रेट मैचः डॉक्टरों ने शिक्षकों को हराया, पुलिस ने वनकर्मियों को आसानी से पटका- Shivpuri News

शिवपुरी।
मध्यप्रदेश लिपिक वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ जिला शिवपुरी के तत्वाधान में खेल और युवा कल्याण विभाग के सहयोग से अंतर विभागीय क्रिकेट प्रतियोगिता में पुलिस विभाग ने वन विभाग को मेडिकल कॉलेज ने शिक्षा विभाग को हराकर अगले दौर में प्रवेश किया।

प्रतियोगिता के तीसरे दिन पहला मैच पुलिस विभाग व वन विभाग के बीच खेला गया। मैच में पुलिस विभाग ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी को आमंत्रित किया। वन विभाग ने नकुल के 11, कृष्णकांत के 9, मनीष ने 18, की बदौलत की वन विभाग निर्धारित 15 ओवर में 66 रन ही बना सकी। पुलिस विभाग की ओर से मनीष वशिष्ठ 3, शोभाराम ने 2, नीरज ने 3 विकेट लिये। वन विभाग के 66 रनों का पीछा करते हुए पुलिस विभाग की ओर से विकास द्वारा 12 गेंदों पर बनाये गये 43 रनों की ताबड़तोड़ खेली गई पारी और सुरभि के 10 सुबेदार रणवीर यादव के 7 रनों की बदौलत 04 ओवर में जीत के लिए आवश्यक रन बनाकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

इसके साथ ही दूसरा मैच शिक्षा विभाग व मेडिकल कॉलेज के बीच खेला गया। मेडिकल कॉलेज की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मुक्तानंद के 23, शादाब खान के 16, रमेश के 34, उत्कर्ष मिश्रा के 47 रनों की बदौलत निर्धारित 15 ओवरों में 162 रन बनाये। शिक्षा विभाग की ओर से फिरोज ने 1ए गजेन्द्र ने 2 व प्रदीप ने 1 विकेट लिया। मेडिकल के 162 रनों के जवाब में शिक्षा विभाग के ओर से कपिल के 48 व फिरोज के 24 रनों के योग से 119 रन ही बना सकी।

मेडिकल कॉलेज ने यह मैच 42 रनों से जीत लिया। मेडिकल कॉलेज की ओर से अमित ने 1, अजय ने 3, विकेट लिये। मेडिकल कॉलेज की टीम ने अगले दौर में प्रवेश किया। पहले मैच में पुलिस विभाग विकास जाट व दूसरे मैच में मेडिकल कॉलेज के उत्कर्ष मिश्रा को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया।

इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में बलवंत सिंह परिहार, नरेन्द्र सिंह गुप्ता तहसीलदार, मेडिकल कॉलेज के सोमेन्द्र शर्मा, पंकज पाण्डेय, योगेन्द्र शर्मा, जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी डॉ.के.के.खरे, क्रिकेट अकादमी के कोच श्री अरूण कुमार सिंह, लिपिक संघ के जिलाध्यक्ष हिम्मत सिंह सोनवार, संरक्षक श्री गिरीष मिश्रा मामा उपस्थित रहे। मेच में एम्पायरिंग, खेल विभाग के प्रशिक्षणार्थी खिलाड़ियों द्वारा व स्कोरिंग कमल सिंह बाथम ने की। कमेंट्री में सत्येन्द्र चतुर्वेदी, योगेन्द्र शर्मा, कमल सिंह बाथम ने सहयोग किया।