नेताओं के पत्र में नहीं बचा प्रताप,नही रूक रही है रेलगाड़िया, सोशल पर लेटर वायरल: नेता ट्रॉल- Shivpuri News

हार्दिक गुप्ता कोलारस। शिवपुरी की कोलारस विधानसभा हमेशा से शिवपुरी की राजनीति में शक्तिशाली रही है। कांग्रेस और भाजपा संगठन में दोनो में जिलाध्यक्ष के पद पर इसी विधानसभा से आने वाले नेता आसानी रहे है। जिला पंचायत अध्यक्ष की पद की कुर्सी पर भी कोलारस विधानसभा के नेता का अधिकांश वार कब्जा रहा है। वर्तमान में सोशल का युग है और कोलारस की जनता कोलारस के रेलवे स्टेशन पर रेल गाड़ियों के स्टॉपेज को लेकर कोलारस क जनप्रतिधियो ने नाराज होकर उन्हें सोशल पर कॉल कर रही है।

कोलारस रेलवे स्टेशन से 9 रेलगाड़िया गुजरती है लेकिन एक गाडी रूकती है,इस कारण कोलारस नगर और आसपास की जनता को काफी परेशानी का सामना करना पडता है। जबकि कोलारस विधानसभा की बदरवास तहसील में 2 रेलगाडियो का स्टॉपेज है। कोलारस में कोरोना काल से पूर्व 5 गाडिया स्टापेज लेती थीं कोलारस से भोपाल—इदौर सहित महानगरो को जाने के लिए या तो शिवपुरी—गुना आना पड़ता है और यही गाडिया कोलारस से निकल रही है इस कारण ही कोलारस की जनता में भारी रोष है।
ऐसा नहीं है कि कोलारस में रेल को रोकने के प्रयास नहीं किए हो,कोलारस के स्थानीय नेताओं से लेकर कोलारस विधायक और शिवपुरी गुना के सांसद डॉ केपी यादव भी रेलवे को चिट्ठी लिख चुके है,लेकिन इन चिठ्यो के दम पर रेल नहीं रोक सकी। अब जनता कोलारस के प्रतिनिधियों का ट्रॉल कर रही है।

सोशल पर भारत सरकार केंद्रीय मंत्री राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया,शिवपुरी गुना सांसद डॉ केपी यादव,विधायक वीरेंद्र रघुवंशी के वह पत्र जो रेलवे को लिखे गए वह सब जब जनता वायरल कर रही है ओर कमेंट भी कर रही है। जनता चाहती है कि अब कोलारस में रेल रोकी जाए। कमेंट में लिखा जा रहा है कि एक एक कर सब बल्लम योद्धा आ गए लेकिन कोलारस में रेल नहीं रुके,अब कौन बचा है तो कोलारस में रेल को रोक सकता है।

वही मप्र के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की भी एक पोस्ट वायरल हो रही है जिसमें लिखा जा रहा है कि मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एक छोटे से रेलवे स्टेशन बसई के लिए एक पत्र लिखा,इस पत्र के प्रताप से छत्तीसगढ़ और पठानकोट एक्सप्रेस रूकने लगी। अब देखते है कि कोलारस के नेता जनता के ट्रॉल से बचने के लिए अपनी कौनसी शक्ति का इस्तेमाल करते हैं।