Shivpuri News- सरपंच 500-500 रूपए में खरीद कर लाया ​जनसुनवाई में ग्रामीण, सैल्समेन की मां ने खोल दी पोल- कहा

शिवपुरी।
खनियाधाना के मोहासा गांव से ग्रामीण आज मंगलवार को आयोजित हुई जनसुनवाई में सेल्समेन की शिकायत लेकर पहुंचे ग्रामीणों का आरोप है कि राशन की दुकान के सेल्समेन ने कई माह से राशन नहीं बांटा है और अब जो भी राशन मांगता है तो सेल्समेन उनके साथ मारपीट कर देता है।

इसी दौरान राशन की दुकान का सेल्समेन अपनी मां के साथ भी जनसुनवाई में पहुंचा था। ग्रामीणों और सेल्समैन के बीच कलेक्टर परिसर में जमकर बहस हो गई। सेल्समेन का कहना था कि सरपंच ने 500-500 रुपए देकर ग्रामीणों को झूठी शिकायत करवाने कलेक्ट्रेट पहुंचाया है।

जनसुनवाई में हुई जमकर बहस

जनसुवाई में शिकायत लेकर पहुंचे ग्राम मोहासा के ग्रामीणों का आरोप है कि उचित मूल्य की दुकान का सेल्समेन अनिल पुत्र बलवीर यादव द्वारा उन्हें मिलने वाला राशन नहीं देता है। कुछ ग्रामीणों को राशन वितरित भी करता है तो ग्रामीणों से निर्धारित कीमत से अधिक कीमत की मांग करता है। ग्रामीणों के अनुसार उन्होंने पूर्व में इसकी कई शिकायतें जनसुनवाई में दर्ज कराई गई थी।

शिकायत से भड़का सेल्समैन अब ग्रामीणों के साथ मारपीट भी करने लगा है। सेल्समैन ग्रामीणों को धमकी देता है कि अगर अब जिसने भी शिकायत दर्ज कराई तो वह उसे जान से खत्म कर देगा। इस मामले में सेल्समैन अनिल यादव और उसकी मां का कहना था कि ग्रामीणों द्वारा सरपंच के बहकाबे में आकर झूठी शिकायतें की जा रही हैं।

बच्चे के सिर पर हाथ रखकर कसम खाने तक पहुंची बात

ग्रामीणों और सेल्समैन के बीच हो रही बहस को शांत करने के लिए सेल्समैन की मां ने आदिवासी महिलाओं से अपने-अपने बच्चों की कसम खाने तक कि बात कह दी तब कहीं जाकर मामले ने थोड़ी शांति पकड़ी। सेल्समैन की मां का आरोप है कि ग्रामीण सरपंच की बातों में आकर झूठी शिकायत करवा रहा है।

कलेक्ट्रेट परिसर में बनी हाथापाई की नौबत

कलेक्ट्रेर परिसर में ग्रामीणों और सेल्समेन के बीच हो रही बहस के बीच हाथापाई की नौबत बन गई थी। मौजूद लोगों ने दोनों पक्षों ने मामले को शांत कराकर अपनी अपनी शिकायत कलेक्टर के समक्ष रखने की बात कही गई। सेल्समैन बलवीर का आरोप है कि सरपंच ने गांव के आदिवासी लोगों के राशन कार्ड गिरवीं रखे हुए हैं। सरपंच चाहता है कि मैं गिरवी रखे हुए राशन कार्ड पर फर्जी तरीके से राशन उसके हवाले कर दूं। इसी बात को लेकर सरपंच लगातार झूठी शिकायत कर रहा है।