सार्थक ऐप द्वारा स्वास्थ्य कर्मचारियों की हाजिरी का संगठन ने किया विरोध, CMHO को सौंपा ज्ञापन- Shivpuri News

शिवपुरी।
मप्र स्वास्थ्य कर्मचारियों के द्वारा संगठन के बैनर तले सार्थक ऐप द्वारा स्वास्थ्य कर्मचारियों की हाजिरी को लेकर विरोध दर्ज कराया गया और इस संबंध में इस जारी आदेश को निरस्त कराने को लेकर मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के द्वारा लामबंद होकर सीएमएचओ को यह आदेश निरस्त करने को लेकर ज्ञापन सौंपा गया।

इस दौरान मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष मनोज भार्गव ने बताया कि स्वास्थ्य सेवाओं में कार्यरत मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ का प्रत्येक कर्मचारी जब हफ्ते भर कार्यरत रहकर 24 घंटे ही अपनी सेवाएं प्रदान कर रहा है तब सार्थक ऐप द्वारा उपस्थिति दर्ज करना यह कर्मचारी हित में न्यायोचित नहीं है, हम मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के द्वारा इस तरह के जारी आदेश का विरोध करते है और इसे निरस्त करने की मांग करते है।

यहां स्वास्थ्य कर्मचारियों की समस्याओं को दोहराते हुए जिलाध्यक्ष मनोज भार्गव ने बताया कि जब अन्य विभागों में इस तरह का कोई प्रावधान नहीं है तब मप्र स्वास्थ्य कर्मचारियों पर ही ऐसी क्या अनिवार्यता कि वह अपनी उपस्थिति को लेकर सार्थक ऐप पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं, जबकि जिले भर में कई जगह नेटवर्क समस्या भी रहती है ऐसे में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के बाद भी नेटवर्क ना रहने की स्थिति में कर्मचारी को अनुपस्थित माना जाएगा। ऐसे में यह अमानवीय व्यवहार पूर्ण जारी आदेश का मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ संपूर्ण प्रदेश भर में विरोध करेगा और इस आदेश निरस्ती को लेकर अभी ज्ञापन सौंपा है।

लेकिन भविष्य में यदि समस्या निराकरण नहीं हुई तो संपूर्ण प्रदेश भर के स्वास्थ्य कर्मचारी आन्दोलन करने को बाध्य होंगें। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.पवन जैन के द्वारा यह ज्ञापन लिया गया और उचित निराकरण करने का आश्वासन मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ को दिया। इस अवसर पर ज्ञापन सौंपने वालों में मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के प्रमोद कटारे, बृजेन्द्र परिहार, रामस्वरूप श्रीवास्तव, आमिर खान, गोविन्द राठौर, संतोष शर्मा सहित महिलाओं में श्रीमती ऊषा जोशी, श्रीमती वंदना राय, मधुलता दुबे, अनिता निकुंज, निरंजना खत्री, हुस्ना बानो, कविता वायवासे, विजय अरोरा, सीमा बंसल, सरोज लांबा, कल्पना भदौरिया, सरिता त्रिवेदी, दीप्ति तोमर रविना यादव, वर्षा शर्मा, प्रियंका भार्गव, द्रौपति शर्मा, आदि सहित अन्य कर्मचारीगण शामिल रहे।