सुध नहीं है तात्या के संग्रहालय की प्रशासन को, डेढ़ साल पहले 15 करोड़ मंजूर, DPR तक नहीं बनी- Shivpuri News

शिवपुरी। देश की आजादी के लिए पहले स्वतंत्रता संग्राम में अपने प्राणों की आहुति देने वाले अमर शहीद तात्या टोपे की 6 जनवरी को 209 वीं जन्म जयंती मनाई जा रही है। तात्या टोपे की याद में संग्रहालय के लिए सरकार डेढ़ साल पहले 15 करोड़ रुपए प्रशासन को जारी कर चुकी है।

लेकिन अभी तक संग्रहालय का निर्माण तो दूर डीपीआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) तक नहीं बन पाई है। डीपीआर के लिए कंसल्टेंट स्तर पर मामला उलझ कर रह गया है।

जानकारी के मुताबिक शिवपुरी.गुना सांसद डॉ केपी यादव ने अमर शहीद तात्या टोपे की याद में शिवपुरी में संग्रहालय का संसद में मुद्दा उठाया था। सांसद की पहल पर केंद्र सरकार ने मध्यप्रदेश सरकार को लेटर जारी किया। अमर शहीद तात्या टोपे की याद में संग्रहालय की मंजूरी मिल गई। करीब डेढ़ साल पहले 15 करोड़ रुपए संग्रहालय बनाने के लिए जारी भी हो चुके हैं। लेकिन अभी तक संग्रहालय निर्माण के लिए कोई रूपरेखा तक नहीं बन पाई है।

प्रशासन का तर्क है। कि कंसल्टेंट की फीस देने के लिए नगर पालिका तैयार नहीं हुई। नगर पालिका द्वारा हाथ खड़े किए गए मप्र पर्यटन विभाग को जिम्मेदारी सौंपी। टूरिज्म डिपार्टमेंट ने कंसल्टेंट नियुक्त किया तो वह फीस ज्यादा मांग रहा है। कुल मिलाकर डीपीआर बनाने की प्रक्रिया की शुरुआत तक नहीं हो पाई है। ऐसे में संग्रहालय निर्माण के लिए इंतजार बढ़ता जा रहा है।

शिवपुरी पोलो ग्राउंड पर 16 दिसंबर को सीएम शिवराज सिंह के सामने भरे मंच से सांसद डॉण् केपी यादव ने संग्रहालय निर्माण की मांग रखी थी। सांसद का कहना था कि आजादी के अमृत महोत्सव के समय में संग्रहालय की नींव रख दी जाए तो बहुत अच्छा रहेगा। हालांकि सीएम को मंच से भाषण के वक्त उस वक्त यह मुद्दा याद नहीं आ पाया।

दूसरी कंसल्टेंट एजेंसी नियुक्त की जाना है।

संग्रहालय निर्माण के लिए मप्र पर्यटन विभाग वालों को काम सौंपा है। उनके द्वारा कंसल्टेंट एजेंसी तय की जा रही है। अभी जो एजेंसी है वह ज्यादा पैसे मांग रही है। दूसरी कंसल्टेंट एजेंसी नियुक्त की जाना है ताकि कम राशि में डीपीआर बन जाए। डीपीआर के बनने के बाद निर्माण कार्य प्रारंभ होगा। 
अक्षय कुमार सिंह, कलेक्टर शिवपुरी