kolaras News- तालाब किनारे झाडियो में फसी मिली 13 दिन से गायब मछुआरे की लाश

कोलारस। कोलारस के सुनाज गांव में 8 दिसंबर से लापता मछुआरे रामवक्स उर्फ लल्लू सिंह लोधी की लाश तालाब किनारे झाडिय़ों में पड़ी मिली। जिसकी पूर्व में गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी। परिजनों ने लल्लू सिंह की मौत का जिम्मेदार मछली पकड़ने वाले ठेकेदार बलवंत केवट को बताते हुए उस पर आरोप लगाए हैं कि ठेकेदार ने लल्लू सिंह की गुमशुदगी परिजनों को बताए बिना दर्ज करा दी।

जिसकी जानकारी उन्हें घटना दिनांक तक नहीं थी। इसकी जानकारी उन्हें उस समय लगी जब बलवंत की लाश मिलने की सूचना उन्हें प्राप्त हुई। पुलिस ने परिजनों के आरोपों की जांच शुरू कर दी है और मृतक का पीएम कराकर लाश उनके सुपुर्द कर दी है।

जानकारी के अनुसार रामबक्स उर्फ लल्लू पुत्र धन सिंह लोधी सुनाज तालाब के पास बटाई से जमीन लेकर उस पर खेतीवाड़ी कर वहां स्थित तालाब की रखवाली करता था। बताया जाता है कि तालाब से मछली पकड़ने का ठेका बलवंत केवट ने लिया था और ठेकेदार ने मछली पकड़ने के लिए रामबक्स को नियुक्त किया था।

मृतक रामवक्स लोधी के भाई जसवंत लोधी का कहना है कि 8 दिसंबर की शाम ठेकेदार बलवंत केवट ने उसके भाई को फोन कर तालाब पर बुलाया। इसके बाद से ही उसका भाई घर नहीं लौटा और 9 दिसंबर को ठेकेदार ने रामबक्स की गुमशुदगी की सूचना थाने में दर्ज करा दी।

लेकिन इसकी जानकारी उन्हें नहीं दी गई। कई दिन बीत जाने के बाद भी रामबक्स घर नहीं आया तो उन्होंने रामबक्स की तलाश शुरू कर दी और बीते रोज उन्हें सुनाज के तालाब में रामबक्स की लाश मिलने की जानकारी लगी, तो वह मौके पर पहुंचे। पुलिस ने लाश की शिनाख्त कराई तो वह रामबक्स की ही थी। जिस पर उन्होंने ठेकेदार से पूछा तो उसने कोई जबाव नहीं दिया।

न रामबक्स घर आया और न ही उसकी नाव मिली
मृतक रामवक्स के भाई जसवंत का कहना था कि 8 दिसंबर को रामबक्स घर से निकला। इसके बाद से वह घर नहीं आया। रामबक्स के साथ उसकी तालाब किनारे खड़ी रहने वाली नाव भी वहां नहीं मिली। घटना वाले दिन उन्हें रामबक्स के कपड़े तालाब किनारे रखे मिले। उन्हें आशंका है कि ठेकेदार बलवंत केवट ने राम बक्स को मछलियां पकड़ने के लिए तालाब में उतार दिया और इसी दौरान उसका भाई नाव सहित तालाब में डूब गया।

यह बात ठेकेदार ने छुपा ली और उसके डूबने की बात उसने किसी को नहीं बताई। लेकिन अब उसकी लाश तालाब किनारे मिल गई है। जिससे यह स्पष्ट हो गया है कि रामवक्स की मौत पानी में डूबने से हुई है और इसके लिए ठेकेदार ही जिम्मेदार है।

इनका कहना हैं
रामवक्स की लाश सुनाज गांव में स्थित तालाब के किनारे झाडिय़ों में मिली है। परिजनों ने मछली पकडऩे वाले ठेकेदार पर आरोप लगाए हैं। जिसकी जांच की जा रही है। फिलहाल मामले में मर्ग कायम कर लिया है और मृतक का पीएम भी हो गया है। जिसकी रिपोर्ट आने के बाद रामवक्स की मौत का सही कारण ज्ञात हो सकेगा।
मनीष शर्मा थाना प्रभारी कोलारस