Shivpuri News- राज्यस्तरीय शालेय हैडबॉल प्रतियोगिता में बेहोश हुई छात्रा, पानी को तरसे खिलाड़ी

शिवपुरी। शहर के फिजिकल कॉलेज प्रांगण में आज शुक्रवार से 66 वीं राज्य स्तरीय शालेय हैंडबाल प्रतियोगिता का आगाज शानदार परेड और सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ हुआ। इस प्रतियोगिता में 10 संभागों की 40 टीमों के 640 खिलाड़ी भाग ले रहे है। इस प्रतियोगिता में बालक. बालिका 14 और 17 वर्ष वर्ग के 96 मैच खेले जाएंगे।

इस खेल प्रतियोगिता के शुभारंभ में जनप्रतिनिधियों और आला अधिकारियों की मौजूदगी रही। इस प्रतियोगिता में जबलपुर, रीवा, ग्वालियर, नर्मदापुरम, आदिवासी विकास, सागर, शहडोल, इंदौर, उज्जैन सहित भोपाल संभाग से 14 व 17 वर्ष बालक.बालिका वर्ग की 40 टीमें अपनी खेल प्रतिभा दिखाएंगी। लेकिन आज आयोजन से पहले ही दिन कई खामियां निकलकर सामने आई है।

पहले दिन ही दिखी अव्यवस्था

राज्य स्तरीय शालेय हैंडबाल प्रतियोगिता के पहले दिन ही अव्यवस्थाओं का दौर देखा गया, यहां खेल मैदान पर खिलाड़ियों और दर्शकों के लिए पर्याप्त पानी तक की व्यवस्था नहीं की गई। ग्राउंड के एक और कचरे में लगी आग का धुंआ भी वातावरण को प्रदूषित कर रहा था। खेल मैदान में खिलाड़ियों के लिए बनाए गए टेंट में सिर्फ कुर्सियां पड़ी थी जबकि पानी से लेकर फर्स्ट एड बॉक्स की व्यवस्था होनी चाहिए थी।

छात्रा हुई बेहोश, पानी के लिए तरसती रही

कार्यक्रम के आयोजन में शामिल होने ग्वालियर से आई बालिका खिलाड़ी गश्त खाकर गिर पड़ी, जिसे अन्य बालिकाओं और कोच संभालते नजर आए। बालिका लगातार पानी की मांग कर रही थी लेकिन उसे तत्काल पानी तक उपलब्ध नहीं हो सका। साथी बालिका कहीं से जाकर बोतल में पानी भरकर लाई, तब कहीं जाकर बालिका को होश आया। जबकि बालिका को तत्काल ग्लूकोज और पानी और डॉक्टर की व्यवस्था कराने का जिम्मा आयोजकों का था। बालिका को एंबुलेंस की मदद से जिला अस्पताल पहुंचाया गया।

बालक.बालिकाओं के लिए अलग.अलग आवास की व्यवस्था

विभिन्न संभागों से आई टीमों के लिए आवास की व्यवस्था अलग.अलग शासकीय और अशासकीय भवनों में की गई है। लेकिन इन स्थानों से बालक.बालिकाओं के लाने ले जाने का प्रबंध नहीं किया गया। आज आयोजन के शुभारंभ के पहले दिन ही बच्चे सड़कों पर खेल मैदान की ओर पैदल जाते हुए दिखाई दिए।

बालक.बालिकाओं का कहना था कि उन्हें ग्राउंड तक पहुंचने के लिए संसाधन की व्यवस्था नहीं कराई गई थी, इसीलिए वह पैदल ही कार्यक्रम स्थल की ओर निकले। इसकी वजह से वे कार्यक्रम के शुभारंभ में होने वाली परेड में भी शामिल नहीं हो सके।

इनका है कहना
जिला शिक्षा अधिकारी समर सिंह राठौर का कहना है कि प्रतियोगिता में सम्मिलित होने शिवपुरी पहुंचे। इस सभी 10 संभागों के लिए पर्याप्त व्यवस्थाएं की गई है। सभी संभागों के खिलाड़ियों के लिए अलग.अलग समितियां बनाई गई हैं। उन समिति के प्रभारी भी बनाए गए हैं। सभी सेंटरों पर फर्स्ट एड बॉक्स सहित ग्लूकोस की भी व्यवस्था की गई है, इसके अतिरिक्त अगर ऐसी खामियां सामने आई हैं तो वह आज ही इन खामियों को दूर करने का प्रयास करेंगे।