ग्रामीण क्षेत्र में स्कूलों की हालत खस्ताः निरिक्षण मे लटके मिले ताले, बच्चों को जेल जैसी पतली दाल- Shivpuri News

शिवपुरी। जनपद शिक्षा केंद्र शिवपुरी के बीआरसीसी बालकृष्ण ओझा मंगलवार को सतनवाड़ा क्षेत्र के स्कूलों का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान कुछ स्कूल तो विधिवत संचालित मिले लेकिन शासकीय प्राथमिक विद्यालय सतनवाड़ा खुर्द एवं शासकीय प्राथमिक विद्यालय ठेह पर ताला लटका मिला ।

इसी क्षेत्र के एकीकृत माध्यमिक विद्यालय सतनवाड़ा पर जब बीआरसीसी शाम 4;15 बजे पहुंचे तो निरीक्षण की सूचना मिलते ही स्कूल से जा चुका स्टाफ सड़क से बैरंग शाला पर लौट आया। बंद मिले विद्यालयों को नोटिस जारी किए जा रहे हैं जबकि एकीकृत माध्यमिक विद्यालय सतनवाड़ा के समस्त स्टाफ को मौखिक रूप से चेतावनी देकर समय पर उपस्थित होने के लिए निर्देशित किया गया है। निरीक्षण के दौरान बीआरसीसी के साथ बीएसी सुनील राठौर एवं अरविंद वर्मा सहित जन शिक्षक अरविंद सरैया उपस्थित थे।

मामोनी का जब 3:30 बजे टीम ने निरीक्षण किया तो शाला विधिवत संचालित मिली। शाला प्रभारी फतेह सिंह गुर्जर छात्रों को अभ्यास कार्य करवा रहे थे। शाला में दर्ज 49 आदिवासी छात्रों से बीआरसी शिवपुरी बाल कृष्ण ओझा ने संवाद किया तो छात्रों ने जवाब भी दिए। यहां बच्चों द्वारा कविताएं सुनाई गई। बीआरसी ने छात्रों को टॉफियां वितरित की। निरीक्षण के समय साथ में छात्रों का स्तर कक्षा के अनुरूप पाया गया।

निरीक्षण के दौरान स्व सहायता समूह द्वारा मासूमों का निवाला छीनने का भी गंभीर मामला सामने आया है। करौली मां स्व सहायता समूह द्वारा छात्रों को लंबे समय से मध्यान भोजन वितरण नहीं किये जाने की शिकायत आ रही थी तो वहीं निरीक्षण के समय बच्चों को निर्धारित मापदंड से विपरीत महज एक रोटी और पतली दाल छात्रों को वितरित किया जाना पाया गया। जिसकी मात्रा और गुणवत्ता निर्धारित मापदंड के अनुसार नहीं पाई गई।

जो विद्यालय बंद मिले हैं उन्हें नोटिस जारी कर रहे हैं जवाब के बाद कार्रवाई का प्रस्ताव बस कार्यालय को भेजा जाएगा लापरवाही बरतने वाले सहायता समूह को भी नोटिस जारी किया है।
बालकृष्ण ओझा, वीआरएस, शिवपुरी।