SHIVPURI NEWS- इंदार में बादाम सिंह की रस्सी से गला घोट कर हत्या, कैमरो ने दिया उसके हत्यारों का सुराग

कोलारस।
खबर जिले के कोलारस अनुविभाग के इंदार थाने के गुहांसा गांव से युवक की हत्या उसकी दोस्तो ने शराब पीलाकर रस्सी से गला घोटकर कर दी। हत्या का उधार लिए पैसे वापस मांगने के कारण की हैं। पुलिस ने इस मामले को 24 घंटे ट्रेस कर किया हैं। इस हत्या में मृतक के दो दोस्त शामिल थे। हत्या दोस्तो ने प्लानिंग बनाकर की थी। पुलिस ने मृतक की लाश उसके दोस्तो ने बताया पुलिस ने मृतक की लाश कदवाया थाना क्षेत्र के जंगल से कर ली हैं

जानकारी के मुताबिक बादाम सिंह उम्र 34 साल पुत्र भगवत सिंह लोधी निवासी ग्राम गुहांसा 9 नवंबर की सुबह 9 घर से ईसागढ़ जाने की कहकर निकला। जबकि पिता भगवत सिंह पेशी पर शिवपुरी आ गए। घर लौटने पर बेटा नहीं लौटा तो रिश्तेदारी में जाने की संभावना के चलते ध्यान नहीं दिया। दूसरे दिन इंदार थाने में गुमशुदगी दर्ज करा दी। पुलिस को ईसागढ़ में कान्हा दूध डेयरी के आगे बादाम सिंह की बाइक रखी मिली। सीसीटीवी फुटेज निकलवाने पर गांव के ही वीरेंद्र गिर उम्र 36 साल पुत्र दीवान सिंह गिर और उसका साथी हल्के उर्फ देवेंद्र यादव भी बादाम सिंह के संग नजर आया। पुलिस ने वीरेंद्र गिर को उठाया और सख्ती से पूछताछ की। वीरेंद्र टूट गया और हत्या का राज उगल दिया।

पैसे दिलवाने के बहाने मृतक की बाइक पर लिफ्ट लीए फिर अगवा कर लिया

वीरेंद्र गिर के पिता बरखेड़ी गांव में पुजारी हैं। वीरेंद्र ने बरखेड़ी चलकर पैसे दिलवाने की बात कही। बादाम सिंह बाइक लेकर निकला। इधर वीरेंद्र व देवेंद्र पैदल आ गए। दोनों ने बादाम की बाइक पर लिफ्ट ली। ईसागढ़ ले जाकर अगवा करके संग ले गए और कदवाया थाना क्षेत्र में डेंगा मोचार के जंगल में देवेंद्र व बादाम शराब पीने लगे। इधर वीरेंद्र ने रस्सी का फंदा गले में डालकर बादाम की जान ले ली। सड़क से 50 किमी दूर झाड़ियों से पुलिस ने लाश बरामद कर ली है। दूसरा आरोपी देवेंद्र यादव फरार है।

ट्रैक्टर खरीदा था उधारी के पैसो से

मृतक बादाम सिंह और आरोपी वीरेंद्र गिर ने संग मिलकर खेतीबाड़ी करने ट्रैक्टर खरीदा था। जरूरत पड़ने पर बादाम ने वीरेंद्र को को 2 लाख रुण् दिए और फिर अपनी बहन से 1 लाख रु भी दिलवा दिए। समय के साथ पैसे नहीं लौटाने पर बादाम सिंह मांगने लगा। वीरेंद्र गिर ने एक माह पहले अपने साथी देवेंद्र यादव के संग बादाम की हत्या की साजिश रची। क्योंकि काफी समय पहले बादाम ने देवेंद्र को चांटा मारा था। चांट का बदला लेने के लिए देवेंद्र भी हत्या की साजिश में शामिल हो गया।