शिवपुरी में 9 की मौत- नरवर, कोलारस, दिनारा, खनियाधाना और शिवपुरी शहर की घटनाएं- Shivpuri News

शिवपुरी।
शिवपुरी जिले में पिछले 24 घंटों में 9 मौतें होने की खबर आ रही है। नरवर में एक ट्रैक्टर पुलिया से कूद गया जिसमें बैठे 3 किसानों की मौत हो गई। वही तेहरवी से लौट रहे जीजा साले को तेज रफ्तार बोलेरो ने उडा दिया जिससे उनकी मौत हो गइ। वही फोरलेन पर एक बंद कमरे में युवक फंदे पर लटका मिला। एसपी कोठी शिवपुरी के सामने कपिल शर्मा की मौत हो गई। वही जिले में कक्षा 1 के स्टूडेंट की लाश भी तालाब में मिली हैं।

कोलारस थानाः बंद होटल में लटका मिला युवक

कोलारस। खबर जिले के कोलारस थाना अंतर्गत भेड़ फार्म कोटा झांसी हाईवे किनारे एक होटल के कमरे में एक युवक के शव को फांसी के फंदे पर लटका मिला हैं। बंद पड़े होटल का मालिक राजू रावत अपने होटल के पास बने देव स्थान पर पूजा के लिए पहुंचा था। पूजा करने के बाद जब वह अपने होटल के अंदर गया तो उसे होटल के कमरे में रस्सी पर लटका हुआ एक शव दिखाई दिया।

इसकी सूचना तत्काल कोलारस थाना पुलिस को दी गई मौके पर पहुंची पुलिस ने शिनाख्त की तो युवक की पहचान बेहटा गांव के रहने वाले 25 वर्षीय मनीष ओझा बेटे ओमप्रकाश ओझा के रूप में हुई। बताया गया हैं कि मनीष ओझा बीती रात घर से झगड़ कर निकला था। जिसका शव होटल के कमरे में फंदे पर लटका हुआ मिला युवक शराब का भी आदि बताया गया है। युवक शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं।

दिनारा थानाः कक्षा 1 के स्टूडेंट की संदिग्ध मौत

करैरा अनुविभाग में आने वाले पुराने दिनारा निवासी अंशु जाटव शुक्रवार की दोपहर करीब 1ः30 बजे अपने ही घर से लापता हो गया था। अंशु जाटव कक्षा एक का छात्र था। परिजनों का कहना है कि बीते शुक्रवार को अंशु जाटव अपने स्कूल अपने भाई बहनों के साथ पढ़ने नहीं गया था।

अंशु के पिता का पूर्व में ही देहांत हो चुका है। दोपहर 1ः30 के लगभग अंशु को घर के आसपास खेलते हुए देखा था। जिसके बाद उसका कोई सुराग नहीं लगा। शाम को अंशु के लापता होने की सूचना दिनारा थाना में दर्ज कराई गई थी। परिजनों ने लापता अंशु के चाचा पर ही उसका अपहरण करने का संदेह जताया था। साथ ही घर के पास में तालाब की तरफ जाने का संदेश भी जताया था। तभी से दिनारा थाना पुलिस हर एंगल से लापता अंशु की तलाश कर रही थी।

आज सुबह ग्रामीणों को तालाब किनारे एक शव पड़ा देखा। इसकी सूचना तत्काल दिनारा थाना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस और परिजनों ने अंशु जाटव के शव की शिनाख्त की। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

खनियाधाना में जीजा साले को बोलेरो ने उडाया

जानकारी के अनुसार जनमत सिंह पुत्र तुलसीराम गुर्जर उम्र 35 वर्ष निवासी चाटोली थाना कदवाया जिला अशोकनगर अपने साले राजपाल सिंह पुत्र मनीराम गुर्जर उम्र 32 शिमला गुर्जर थाना ईसागढ़ के साथ अपनी रिश्तेदारी में रविवार की दोपहर पिछोर में एक तेरहवीं में गए थे।

बताया जा रहा है कि जीजा साले देर रात बाइक से कदवाया लौट रहे थे। रात लगभग साढे आठ बजे खनियाधाना थाना क्षेत्र में पिछोर रोड पर स्थित बुधना नदी के पास एक बोलेरो ने लापरवाही से चलाते हुए जीजी साले की बाइक को सामने से टक्कर मार दी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि भिड़ंत इतनी जोरदार थी कई मीटर तक दोनो उछलते हुए गिरे।

घटना की सूचना तत्काल मौके पर मौजूद लोगों ने पुलिस को दी। पुलिस ने दोनों घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खनियाधाना में इलाज के लिए भर्ती कराया,जहां डाॅक्टरो ने दोनो को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मृतक की जेब से मिले दस्तावेजों के आधार पर संबंधित थाना क्षेत्र में सूचित किया।

नरवर में फसल बेचकर लौट रहे 3 किसानों की मौत

जिले के नरवर थाना क्षेत्र में ग्राम जैतपुर के पास एक ट्रैक्टर पुलिया से नीचे कूद गया और पलट गया। इस घटना में टेंक्टर पर बैठे 3 लोगों की मौत हो गई। मृतक अपनी फसल बेचकर अपने गांव वापस जा रहे थे। बताया जा रहा है कि ट्रैक्टर में यह तीनो किसान आधे घंटे से ज्यादा दबे रहे।

जानकारी के अनुसार ट्रैक्टर चालक दीपक पुत्र रमेश सोलंकी उम्र 28 वर्ष निवासी श्यामपुर, घनश्याम पुत्र जगन्नाथ बाथम उम्र 55 वर्ष निवासी जैतपुर और रामदयाल पुत्र कुंजा कुशवाह उम्र 70 वर्ष निवासी श्यामपुर अपनी फसल बेचने के लिए आज दोपहर ट्रैक्टर में अपनी फसल भरकर नरवर मंडी मे आए थे। तीनों किसानों ने अपनी फसल बेची और शाम को अपने गांव की ओर लौट रहे थे।

बताया जा रहा है कि नरवर से 6 किमी दूर जैतपुर गांव के पास एक पुलिया पर ट्रैक्टर अनियंत्रित हो गया और पुलिया से नीचे कूद कर पलट गया। इस हादसे में ट्रैक्टर चला रहे दीपक सोलंकी ट्रैक्टर की स्टेरिंग में फस गया और घनश्याम एंव रामदयाल भी टेक्टर के नीचे दब गए। राहगीरों ने जब टेक्टर के नीचे दबे लोगों को देखा तो ट्रैक्टर को सीधा करने की कोशिश की। जब ऐसी चलती हुई सड़क पर लगभग 2 दर्जन से अधिक लोग एकत्रित हो गए जब इस टेक्टर को सीधा कर इन लोगो को निकाला। बताया जा रहा है कि टेकटर को सीधा करने में लगभग आधा घंटा लग गया इस देरी के कारण घनश्याम बाथम की मौके पर ही मौत हो गई।

वही इस घटना में घायल दीपक सोलंकी और रामदयाल को नरवर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर इलाज के लिए पहुंचाया। डॉक्टरों ने दीपक की स्थिति ज्यादा गंभीर देखते हुए उसे ग्वालियर रेफर कर दिया, वह नरवर में इलाज के दौरान रामदयाल कुशवाह की मौत हो गई। कुछ देर बाद एक दुखद समाचार आया कि दीपक ने ग्वालियर पहुंचने से पूर्व ही अपना दम तोड दिया। नरवर पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी हैं।

एसपी ऑफिस के सामने कपिल शर्मा की मौत

जानकारी के अनुसार कपिल शर्मा पुत्र दामोदर प्रसाद शर्मा उम्र 35 साल निवासी सेवड़ा अपने बच्चो को पढ़ाने के लिए शिवपुरी में रहता था। आज वह अपने घर जा रहा था तभी एसपी कोठी के सामने पोहरी की ओर से आ रही तेज रफ्तार अशोक लीलैंड की लोडिंग ने कपिल को उड़ा दिया। प्रत्यक्षदर्शी ने बताया है कि यह गाड़ी बीच शहर में लगभग 100 किमी की रफ्तार में थी। साथ ही बताया है कि ड्राइवर इसे में था। इस हादसे के बाद ड्राइवर गाड़ी को छोड़कर मौके से फरार हो गया।

परिजनों ने डॉक्टर पर लापरवाही के आरोप लगाते हुए किया हंगामा

विष्णु मंदिर के पास छतरी रोड पर लोडिंग वाहन ने बाइक सवार में टक्कर मार दी। जिससे बाइक सवार 40 वर्षीय युवक राजू कुशवाह के सिर व छाती में अंदरूनी चोट आ गई, जिससे परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे। आरोप है कि ड्यूटी डॉक्टर ने राजू का लापरवाही पूर्ण तरीके से इलाज किया और उसकी गंभीर हालत के चलते उसे रैफर न करते हुए, अस्पताल में ही इलाज करते रहे, इसी लेट लतीफी के चलते राजू की मौत हो गई। इसी बात पर परिजनों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया। जिसे मौके पर पहुंची पुलिस ने समझा-बुझाकर मामला शांत किया।

जानकारी के मुताबिक राजू (40) पुत्र लालाराम कुशवाह निवासी सर्वोदय नगर फिजिकल शिवपुरी रविवार की शाम 7 बजे गुरुद्वारा स्थित इलेक्ट्रिक दुकान से काम करके घर जा रहा था। विष्णु मंदिर के पास छतरी रोड पर लोडिंग क्रमांक एमपी33 एल1021 ने बाइक में टक्कर मार दी। हादसे में राजू कुशवाह के सिर व छाती में चोट आने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस दौरान परिजन ड्यूटी डॉक्टर से राजू को मेडिकल कॉलेज में रैफर करने की मांग कर रहे थे, लेकिन डॉक्टर ने रैफर न करते हुए वहीं लापरवाही पूर्ण तरीके से इलाज किया और रात करीब 12 बजे राजू ने दम तोड़ दिया।

मौत के बाद परिजन आक्रोशित हो गए और उन्होंने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। परिजनों का कहना था कि सिर में चोट वाली जगह लगातार सूजन बढ़ रही थी, लेकिन डॉक्टर ने सिर की सूजन को गंभीरता से नहीं लिया और उसके सिर पर पट्टी बांधकर सर्जिकल वार्ड में भर्ती कर दिया। कई बार कहने के बाद भी डॉक्टर ने राजू को रैफर नहीं किया और इसके चलते राजू की मौत हो गई। फिलहाल लोडिंग चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर विवेचना प्रांरभ कर दी है।