शिवपुरी शहर में कांग्रेसी पार्षदों के झाड़ू का असर, सड़क नाली सहित 59 प्रोजेक्ट हुए स्वीकृत- Shivpuri News

शिवपुरी।
नगर पालिका शिवपुरी की परिषद के गठन को चार माह से अधिक हो चुके है लेकिन विकास के नाम पर आपसी खींचतान,आरोप-प्रत्यारोपों का दौर ही चलता रहा। कांग्रेस पार्षद अपनी असुनवाई का आरोप लगाते हुए पिछले 6 दिनों से शहर में झाड़ू लेकर उतर गए थे। जिसका यह परिणाम हुआ कि शहर के 39 वार्डो में सड़क नाली सहित अन्य विकास कार्यो में 59 प्रकरण स्वीकृत हुए हैं।

सभी वार्डों में सड़क सुधारने को दी स्वीकृति

बुधवार को हुई पीआईसी की बैठक में शहर के विभिन्न वार्डों में सड़क.नाली आदि के कामों को तो हरी झंडी दी ही गई साथ ही वार्ड 1 से लेकर 39 तक में वार्डों की ऊबड़.खाबड़ हुई सड़कों को सुधारने के लिए रोड रेस्टोवेशन कार्य को प्रशासकीय स्वीकृति दी गई। वार्डों की यह सड़कें सीवर प्रोजेक्ट व सिंध प्रोजेक्ट के फेर में खोदी गईं थीं जिन्हें सुधारने के लिए पीआइसी ने स्वीकृति दी है।

सड़को पर झाडू का असरःस्वीकृत हुए वार्डो में काम

ज्ञात रहे पिछले दिनों कांग्रेसी पार्षदों ने वार्डों में विकास कार्य न होने तथा उनकी असुनवाई से नाराज होकर तीन दिन तक जहां शहर में झाडू लगाई वहीं चौथे दिन नगरपालिका परिसर में भैंस के आगे बीन बजाई। वार्डों में कामों के लिए हो रहे इस विरोध प्रदर्शन का ही असर रहा कि पीआईसी की तीसरी बैठक बुधवार को आयोजित कर वाडों में विकास कार्य स्वीकृत हुए। हालांकि पीआईसी की इससे पहले हुईं दो बैठकों में भी जो मुद्दे पास किए गए उनका काम भी अभी तक शुरू नहीं हो सका।

इनका कहना हैं
नगरपालिका में जो कुछ चल रहा है, उसकी वजह से विकास कार्यों की शुरुआत में देरी हो गई है लेकिन हमारा प्रयास है कि जल्दी से काम शुरू हों। टेंडर प्रक्रिया में अधिक समय लगता है और फिर ठेकेदार बिलो रेट में काम लेकर उसे करते नहीं हैं, जिस वजह से भी देरी हो रही है।
गायत्री शर्मा, नपाध्यक्ष शिवपुरी