SHIVPURI में मूसलाधार बारिश- भौंती में परौंच नदी का पुल बह गया, ट्रैक्टर फंसा- NEWS TODAY

पिछोर।
खबर जिले के पिछोर अनुविभाग में आने वाले भाँती के ग्राम तिंधारी में परौंच नदी पर बना पुल अत्यधिक बारिश के कारण और प्रशासनिक लापरवाही के कारण पानी में वह गया। इसी क्रम में इस नदी पर से गुजरते समय एक ट्रैक्टर व टैंकर नदी में फंस गए। इन्हें क्रेन की मदद से बाहर निकाला जा सका। प्रशासनिक लापरवाही का परिणाम ही है। कि अब यह पुल ग्रामीणों के लिए खतरनाक हो चुका है। इस पुल पर कभी भी कोई बड़ा हादसा होने की आशंका बनी हुई है।

उल्लेखनीय है कि ग्राम तिंधारी में परौंच नदी पर बना पुल पिछले साल हुई बारिश में ही क्षतिग्रस्त हो गया था। इस पुल पर पीडब्ल्यूडी ने मामला संज्ञान में लाए जाने के बावजूद कोई मरम्मत या निर्माण कार्य नहीं कराया। परिणाम स्वरूप तत्कालीन सरपंच ने पंचायत निधि से पुल की मरम्मत करा दी ताकि ग्रामीणों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े, लेकिन ग्रामीणों द्वारा उपयोग किए जाने से यह पुल लगातार क्षतिग्रस्त होता चला गया। 

पंचायत के जिम्मेदार अधिकारियों को इस संबंध में अवगत कराते रहे लेकिन किसी ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया। परिणाम यह हुआ कि दो दिन पूर्व हुई भारी बारिश के चलते यह पुल एक बार फिर वह गया। वारिश का आलम यह है कि अभी भी पुल के ऊपर से पानी निकल रहा है। इसी


क्षतिग्रस्त पुल व उसमें फंसा ट्रैक्टर और टैंकर क्रम में जब एक ट्रैक्टर व टैंकर पुल पर से निकल रहे थे तभी अचानक पुल वजन से धंसक गया, जिससे ट्रैक्टर व टैंकर भी पुल के अंदर धंस कर फंस गए। इन्हें बाद में क्रेन की मदद से बाहर निकाला गया।

पुल का एक हिस्सा तो पानी में पूरी तरह से वह चुका है। ऐसे में अब कमजोर हुआ यह पुल कभी भी किसी बड़े हादसे का कारण बन सकता है, क्योंकि इस पुल से रोजाना हजारों ग्रामीण इधर से उधर जाते हैं। यह पुल क्षेत्र के दर्जनों गांवों को जोड़ने का काम करता है।

इनका कहना है
हमने करीब डेढ़ महीने पहले ही इस क्षतिग्रस्त पुल को सही करवाने के संबंध में जिम्मेदार अधिकारियों को पत्र लिखा था। परंतु हमारे पत्र पर किसी भी प्रकार का ध्यान अधिकारियों ने नहीं दिया। अब बारिश में पुल पूरी तरह से खराब हो गया है। पुल का बड़ा हिस्सा पानी में वह गया है। इस पर हादसे की संभावना बनी हुई है।
ममता सालिकराम सरपंच, ग्राम पंचायत