shivpuri news - व्यापारी अमन गोयल मारपीट मामले में देवेन्द्र रावत ने की SP से जांच की मांग

शिवपुरी। सिटी कोतवाली पुलिस ने दो दिन पूर्व शहर के व्यापारी अमन गोयल की फरियाद पर मामला दर्ज किया था। अमन गोयल ने पुलिस को बताया कि सिंह निवास में जमीन है। आज सुबह उसके पड़ोसी बीके शर्मा की जमीन का सीमांकन हो रहा था।

जिसके चलते आरआई ने सीमांकन के लिए उसे भी बुला लिया। तभी उसकी जमीन से लगी हुई जमीन का मालिक ईश्वर और उसका बेटा देवेन्द्र वहां आ गए।

जहां देवेन्द्र पुत्र ईश्वर लाल रावत निवासी सिंह निवास ने अमन को देखते हुए कहा कि वह यहां क्यों आया है। उसकी जमीन का तो पहले ही सीमाकंन हो गया है।

इसी बात को लेकर देवेन्द्र ने अमन गोयल के साथ मारपीट करते हुए जमीन पर आने पर जान से मारने की धमकी दे डाली। पुलिस ने देवेन्द्र रावत पर मामला दर्ज कर लिया। वही इस मामले में देवेंद्र रावत ने पुलिस अधीक्षक को एक आवेदन सौंपा हैं। इस आवेदन के अनुसार  महर्षि कॉलेज के समीप जमीनी विवाद को लेकर भाजपा नेता ने सत्ता का दुरुपयोग कर दर्ज कराई एफआईआर हुए प्रकरण की जांच को लेकर जांच कराई जाए।

एसपी ऑफिस में आवेदन देते हुए बताया कि महर्षि स्कूल सिंह निवासी के पास 12 बिस्वा जमीन सर्वें नं 1191,2 पटवारी हल्का नंबर 42 सिंह निवास में है। 12 बिस्वा जमीन पर सोनू बिरथरे व अमन गोयल निवासी शिवपुरी अवैध रूप से कब्जा करने का प्रयास कर रहे थे।

देवेन्द्र रावत द्वारा दोनों से कहा ये क्या कर रहे हो तो दोनों बोलो की हमें 5 लाख रुपये दो जब हम यहां से जाऐगें। जब दोनों का विरोध किया तो दोनों ने लात घुसों से मारपीट कर दी और मां बहन की गंदी गंदी गालियां देने लगे सोनू बिरथरे ने कहा कि तूने अगर जमीन पर कदम रखा तो मेरे परिवार वालों को खत्म कर देगें।

सोनू बिरथरे ने कहा की मैं भारतीय जनता पार्टी का महामंत्री हूं और तु मेरा कुछ नहीं कर पाएगा उल्टा तेरे पर झूठे प्रकरण दर्ज करा दूंगा। सोनू बिरथरे ने सत्ता का दुरुपयोग करते हुए देवेन्द्र रावत के खिलाफ पुलिस थाना कोतवाली में बिना जांच किए ही एफआईआर दर्ज कराते हुए आरोपी बना दिया गया है।

इससे मेरी छवि धूमिल हुई है। जबकि भाजपा जिला महामंत्री स्वयं पूर्व में ही कई आपराधिक प्रकरणों में लिप्त है। जब मैंने अपने स्वामित्व की भूमि पर कब्जा करने से रोका तो राजनीतिक षडयंत्र के तहत मेरे खिलाफ मामला पंजीबद्ध किया गया, लेकिन जो हुआ है गलत हुआ मामले में पुलिस को जांच करनी चाहिए थी।

और हम इस मामले में जांच की मांग करते है साथ ही दोषी के विरुद्ध उचित कार्यवाही भी की जावे। यह मांग की पेट्रोल पंप संचालक देवेन्द्र रावत ने जिनके साथ उनके समाज के लोगों पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल को ज्ञापन सौंपा और देवेन्द्र रावत पर दर्ज हुए प्रकरण को वापस लेने के साथ मामले की निष्पक्ष जांच करने की मांग की एसपी ने मामले में उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।