30 किलोमीटर चल कर पोहरी पहुंचा मगरमच्छ, पकड़ा गया, कूनो में शिफ्ट- Pohri News

पोहरी।
खबर जिले के पोहरी नगर से आ रही हैं कि पोहरी नगर में स्थित बीती रात आईटीआई परिसर के गेट पर एक मगरमच्छ बैठा दिखा। पोहरी में मगरमच्छ होने की खबर से सैकड़ों लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई। पोहरी में मगरमच्छ पहली बार निकला हैं मगरमच्छ निकलने से ज्यादा चर्चा यह थी यह कहां से आया होगा। वन विभाग की टीम ने बड़ी ही मुश्किल से मगरमच्छ का रेस्क्यू किया और कुनो में छोडा गया।

पोहरी के आईटीआई गेट पर पहुंची वन विभाग की रेस्क्यू टीम को 8 फुट लंबे मगरमच्छ को पकड़ने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। रेस्क्यू टीम ने मगरमच्छ को फंदे में फंसाने के लिए कई बार रस्सी के फंदे को उसके गले में डाला, लेकिन मगरमच्छ बार.बार अपने मुंह को खोल लेता था।

वह हर बार फंदे में फंसने से बच जाता था, इसके बाद रेस्क्यू टीम ने त्रिशंकु लकड़ी का प्रयोग कर मगरमच्छ को रस्सियों के बने फंदे में फंसा लिया। वन विभाग की रेस्क्यू टीम को मगरमच्छ का रेस्क्यू करने में 3 घंटे का समय लगा। इस बीच क्षेत्रीय लोगों की भीड़ एकत्रित रही।

कई किलोमीटर का सफर कर पहुंचा पोहरी

क्षेत्रीय लोगों की माने तो पोहरी नगर में मगरमच्छ निकलने का यह पहला मामला है। कई वर्षों से पोहरी में मगरमच्छ नहीं निकला है, जबकि शिवपुरी में मगरमच्छ निकलने की घटनाएं महीने में एक या दो या उससे भी अधिक बार हो ही जाती हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि मगरमच्छ कई किलोमीटर का सफर कर नालों और खेतों के रास्ते पोहरी पहुंचा होगा, जिसे वन विभाग की रेस्क्यू टीम ने रेस्क्यू कर लिया है।

कूनो नदी में करेगा विचरण

वन विभाग की रेस्क्यू टीम ने 8 फीट लंबे मगरमच्छ का सुरक्षित रेस्क्यू किया। इसके बाद वन विभाग की रेस्क्यू टीम ने मगरमच्छ को कूनो नदी में छोड़ दिया है। मगरमच्छ भले ही शिवपुरी या किसी अन्य क्षेत्र से आया होए लेकिन अब मगरमच्छ का ठिकाना कूनो अभयारण्य क्षेत्र से बहने वाली कूनो नदी को बनाया है।