नदी में समाकर रेत उत्खनन कर रही पनडुब्बियां नष्ट, फडो पर छापे, प्रभारी मंत्री का आरोप सिद्ध- Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी जिले के प्रभारी मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया का बीते रोज एक दिवसीय दौरा था। इस दौरे पर प्रभारी मंत्री ने रेत ओर स्मैक के कारोबार को पुलिस का संरक्षण देने का आरोप लगाया था। आज यह आरोप भी सिद्ध हो गया,प्रशासन ने आज रेत के फडो पर कार्रवाई की जिसमें 1 हजार घन मीटर रेत जब्त करने की खबर है। वही करैरा क्षेत्र में अवैध रूप से चल रही पनडुब्बियां की तबाह करने के समाचार मिल रहे है।

500 घन मीटर से ज्यादा डंप की हुई रेत तो किया जब्त

जानकारी के अनुसार पुलिस, राजस्व और माइनिंग विभाग ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए बदरवास थाना क्षेत्र के रिजोदी गांव में डंप करके रखी हुई लगभग 250 घन मीटर रेत को जब्त कर लिया गया है। कोलारस SDM बृज बिहारी श्रीवास्तव के अनुसार यह रेत बेताल सिंह यादव के द्वारा डंप करके रखी हुई थी, जिसे जब्त किया गया है।

इसके साथ ही 250 घन मीटर रेत बदरवास थाना क्षेत्र के घुरवार से जप्त की गई है यह रेत किसके द्वारा डंप करके रखी हुई इसकी पड़ताल की जा रही है। कोलारस एसडीएम बृज बिहारी श्रीवास्तव का कहना है कि अभी कार्यवाही जारी है जल्द की उक्त लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्यवाही की जाएगी।

6 पनडुब्बी को किया नष्ट, 500 घन मीटर से भी ज्यादा रेत को किया जब्त

शिवपुरी के करैरा और सीहोर थाना क्षेत्र में पुलिस और राजस्व विभाग की टीम ने संयुक्त अभियान चलाते हुए चितारी गांव के पास सिंध नदी में 6 पनडुब्बियों को नष्ट करने की कार्यवाही की गई है इसके साथ ही पुलिस और राजस्व की टीम ने ग्राम पटेरी में 500 घन मीटर के करीब डंप की हुई रेत को जब्त कर लिया गया है।

करैरा थाना प्रभारी सतीश सिंह चौहान के अनुसार अभी यह कार्यवाही जारी है। इसके अतिरिक्त करैरा थाना में एक अवैध रेत से भरे डंपर (mp33g1106) को भी माइनिंग विभाग ने पुलिस अभिरक्षा में रखा हुआ है।

नशे के खिलाफ भी छेड़ा अभियान

प्रभारी मंत्री डॉ महेंद्र सिंह सिसोदिया द्वारा स्मैक के नशे का चलन शिवपुरी में बढ़ रहा है इसके संकेत पुलिस को दिए थे साथ ही इस पर रोक लगाने के भी निर्देश प्रभारी मंत्री के द्वारा दिए गए थे जिसके बाद अब तक शिवपुरी शहर में पुलिस ने लगभग आठ ऐसे लोगों को राउंडअप किया है जिनके तार स्मैक के व्यापार से जुड़े हैं हालांकि अभी स्मैक से जुड़े व्यापार की कोई बड़ी मछली पुलिस के हाथ नहीं लगी है।