75 करोड़ का गौशाला निर्माण घोटाला- भ्रष्ट तंत्र पर कार्यवाही नहीं जनतंत्र को SDM की चेतावनी- kolaras News

काजल सिकरवार@ शिवपुरी। शिवपुरी जिले में गौशाला निर्माण में लगभग 75 करोड़ रुपए की राशि खर्च हो चुकी हैं। 99 प्रतिशत राशि ग्राम पंचायतों में खर्च हुई है जिसमें 80 प्रतिशत राशि सरपंच सचिव और जनपद की अधिकारी डकार चुके है। 4 दिन पूर्व बदरवास थाना अंतर्गत सीमा में गुजरने वाली फोरलेन पर 5 गायो को अज्ञात वाहन रौंद गया जिससे उनकी मौत हो गई।

बदरवास जनपद की बात करे तो बदरवास जनपद की 16 ग्राम पंचायत में गौशाला निर्माण का बजट आया था,प्रत्येक ग्राम पंचायत की गौशाला के लिए 37 लाख के लगभग बजट स्वीकृत हुआ,लगभग 6 करोड़ रुपए अकेले ही बदरवास जनपद पंचायत में खर्च हुआ हैं।

बामोरकला, अकाझिरी, आकोदाएअलावदी, झूलना,माढा,मथना, सढबुढ, सालोंन, सिंघार, एटामकी, तरावली, टीलाकला, टाठी और बिजरौनी में गौशाला का बजट कागजो से गायब हो चुका है और जमीन पर गौशाला का निर्माण नही हुआ है कही अधूरा पडा है, लेकिन जिसके लिए यह गौशाला बनाई थी वह उसमें नही हैं। वह सडक पर है मरने के लिए।

प्रशासन ने गौशाला निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की ओर तो कदम नहीं उठाया,लेकिन एसडीएम कोलारस ने इस मामले में एक आदेश जारी किया है वह भी पब्लिक के लिए,अगर पब्लिक समझदार होती तो वह गौशाला वंश को खुले में क्यो छोडता। जिले में लगभग 75 करोड़ रुपए का बजट गौवंश के लिए निकाला जा चुका है। गौशाला अधूरी है,सडको पर गाय भटक रही है फोरलेन पर दम तोड़ रही हैं।

एक्सीडेंट में गोवंश के साथ आम आदमी भी घायल हो रहा है। बदरवास काण्ड के बाद प्रशासन सक्रिय हुआ लेकिन भ्रष्ट तंत्र के खिलाफ नहीं जनतंत्र के खिलाफ,एसडीएम कोलारस ने पब्लिक इस मामले में चेतावनी पत्र जारी किया हैं।

एसडीएम ने कहा. खुले में पशुओं को छोड़ा तो होगी कार्रवाई

कोलारस अनुविभाग में लगातार मवेशी हादसों का शिकार हो रहे हैं। अब कोलारस एसडीएम बृज बिहारी लाल श्रीवास्तव ने एक आदेश जारी किया है कि कोई भी पशु मालिक अपने गायए बैलए सूअर और बकरियों को खुले में छोड़ देते हैं, ऐसी स्थिति में मवेशी सड़क किनारे बैठ जाते हैं और हादसे का शिकार हो जाते हैं।

कई जानवर दुर्घटना में चोटिल होते हैं तो कई मवेशियों की मौत हो जाती है। इसके साथ ही जान माल का भी नुकसान का खतरा बना रहता है। इसी के चलते एसडीएम ने कोलारस अनुविभाग के तहसील कोलारस, बदरवास रन्नौद के नगरीय और ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालकों को आदेश जारी करते हुए पत्र में लिखा है कि कोई भी पशु मालिक अपने मवेशियों को खुले में नहीं छोड़ेगा। अगर पशु मालिक ऐसा करता है तो उस पर जाता है तो कार्रवाई की जाएगी।

विधायक बोले दो-तीन माह शुरू हो जाएगी सभी गौशाला

कोलारस विधानसभा क्षेत्र के विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने कहा कि कोलारस विधानसभा के 363 गांव में महज 9 गौशाला हैं, जो अभी संचालित हैं। कोलारस विधानसभा में 38 गौशालाओं को स्वीकृति मिल चुकी है।


गौशालाओं में अधिकतर 70 से 80 फीसदी तक का काम पूरा किया जा चुका है। एक-दो महीने में यह गौशाला बनकर तैयार हो जाएंगी, जिसके बाद गौशालाओं में गोवंश को प्रवेश दिलाया जाएगा। गौशालाओं के हैंडोवर करने के बाद गोवंश के हादसे होने की घटनाओं में काफी गिरावट आएगी।