SHIVPURI की सांख्य सागर झील को रामसर साइट का दर्जा मिला, पढ़िए क्या फायदा होगा

भोपाल।
मध्य प्रदेश के शिवपुरी शहर में स्थित सांख्य सागर झील को रामसर साइट का दर्जा मिल गया है। यह जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नागरिकों को बधाई दी और बताया कि मध्यप्रदेश में भोजताल के बाद यह दूसरी रामसर साइट है। 

मुख्यमंत्री ने किस को श्रेय दिया

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि यह दर्जा माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में जैव विविधता व पर्यावरण संरक्षण के प्रयासों का पारितोषिक है। शिवपुरी विधायक एवं कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने बताया कि इससे साख्यासागर झील को तो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वेटलैंड के रूप में विशेष पहचान मिलेगी ही, साथ ही क्षेत्र में पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। 

पढ़िए, रामसर साइट क्या होती है

रामसर सम्मेलन 1971 में यूनेस्को द्वारा स्थापित एक अंतर्राष्ट्रीय आर्द्रभूमि संधि है। इसके तहत चयनित की जाने वाली जलाशय एवं जमीनों को रामसर साइट कहा जाता है। दुनिया भर में लगभग 2500 स्थानों को रामसर साइट घोषित किया गया है। इसका मतलब होता है कि यह स्थान जलीय जीव जंतुओं के लिए सबसे अनुकूल है। इस तरह के स्थानों पर वाइल्डलाइफ में रुचि रखने वाले पर्यटक आते हैं।