लोकतंत्र की प्रक्रिया के खिलाफ बयान: शिवपुरी से हटाए गए ADM शुक्ला, नोटिस जारी- Shivpuri News

शिवपुरी। वोटिंग और लोकतंत्र के खिलाफ शिवपुरी के ADM उमेश शुक्ला का वीडियो वायरल होने के बाद राज्य शासन ने उनके खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई की है। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि चुनाव आयोग की अनुमति के बाद श्री शुक्ला को शिवपुरी से हटाने की कार्रवाई की जा रही है। उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई का नोटिस भी जारी कर दिया गया है।

डॉ. मिश्रा ने बताया कि एडीएम शुक्ला के बयान को शासन ने गंभीरता से लिया है और उन्हें कल ही अनुशासनात्मक कार्रवाई को नोटिस जारी कर दिया था तथा शिवपुरी से हटाने के लिए चुनाव आयोग से अनुमति मांगी गई थी, जो कि मिल गई है तथा श्री शुक्ला को आज शिवपुरी से हटा दिया जाएगा।

पिछले दिनों शिवपुरी के अपर कलेक्टर उमेश शुक्ला का एक विवादित वीडियो सामने आया। वीडियो में वह देश के लोकतंत्र पर सवाल उठाते दिख रहे हैं। उन्होंने यहां तक कह दिया कि वोट डालकर हमने भ्रष्ट नेता पैदा किए। हुआ यह कि ड्यूटी में लगे सरकार कर्मचारियों को निर्वाचन कर्तव्य मतपत्रों के जरिए से मतदान का अधिकार दिया गया है। तहसील कार्यालय में मतपत्र खत्म न होने से कई कर्मचारी मतदान से वंचित रह गए। इसकी शिकायत लेकर सोमवार को एक प्रत्याशी और कुछ कर्मचारी एडीएम से मिले थे।

इस पर एडीएम ने उनसे कहा था कि जो मतपत्र थे वे डलवा दिए हैं और अब कुछ नहीं हो सकता है। बताया जाता है कि वीडियो उसी दौरान बनाया गया है। वीडियो में अपर कलेक्टर कहने लगे आप ने आज तक वोट डालकर क्या किया? कितने भ्रष्ट नेता पैदा किए? मैं वोट डालना और लोकतंत्र को देश की सबसे बड़ी गलती मानता हूं। यह वीडियो वायरल हो गया था। बताया जाता है कि जो व्यक्ति अपर कलेक्टर से मिलने चैम्बर में आया था, उसके मोबाइल का कैमरा चालू था। एडीएम ने कैमरा चालू होने की आशंका के चलते कैमरा बंद करने को भी कहा था। लेकिन उस व्यक्ति ने कहा कि कैमरा बंद है।

काफी विवादित रहे थे अपर कलेक्टर शुक्ला

अपर कलेक्टर शुक्ला शिवपुरी में काफी विवादित रहे थे और उनकी कार्यप्रणाली पर सवाल उठते रहे थे। उनके कार्यकाल में जनता नामांतरण प्रकरणों के चलते काफी परेशान हुई। कॉलोनाइजर पर कार्रवाई करने के मामले में भी उन पर उंगलियां उठी थीं।

इनका कहना है-
एडीएम शुक्ला को हटाने का समाचार मैंने भी सुना है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा कह रहे हैं तो सही कह रहे होंगे। लेकिन मैं अभी इसकी पुष्टि कर आपको बताता हूं।
अक्षय कुमार सिंह, कलेक्टर शिवपुरी