रास्ता बनवाने के नाम पर ईई ओपी जैन पर 50 हजार रूपए रिश्वत मांगने का आरोप- narwar News

शिवपुरी। नरवर तहसील के नरौआ गांव में शासकीय रास्ते पर गांव के लोगों द्वारा कब्जा करने से बंद हुए रास्ते को खुलवाने की फरियाद लेकर जनसुनवाई में पहुंचे ग्रामीण से रास्ता बनवाने के लिए सिंचाई विभाग के ईई ओपी जैन ने 50 हजार रूपए की रिश्वत मांगी। जिसकी शिकायत लेकर शिकायतकर्ता पुन: बीते मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंचा। जिस पर कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने जांच कर कार्रवाई करने का शिकायतकर्ता को आश्वासन दिया है।

पीड़ित कमल सिंह पुत्र वृंदावन रावत निवासी ग्राम नरौआ ने शिकायती आवेदन में उल्लेख किया है कि 50 साल पुराने शासकीय रास्ते को गांव के मलखान, राजेंद्र पुत्र अतर सिंह, नवल सिंह, अतर सिंह, हरनाम सिंह, बोहरे पुत्र हरिप्रसाद ने कब्जा कर रास्ता बंद कर दिया है। जिस कारण उसके खेत तक पहुंचने वाले उपकरण भी नहीं पहुंच पा रहे हैं और उन्हें अपने खेत तक पहुंचने में काफी समस्याएं उठानी पड़ रही हैं।

जिस कारण उसकी भूमि पर कोई कृषि कार्य नहीं हो पा रहा है। इसकी शिकायत उसने 21 जून 2022 को जनसुनवाई में की। इस शिकायती आवेदन को कलेक्टर शाखा से जल संसाधन विभाग को भेजा गया और निर्देशित किया गया कि जल्द से जल्द वह रास्ता खुलवाए और जिस रास्ते का पटवाया गया है उसे बनाया जाए। जब उसने जल संसाधन विभाग के ईई ओपी जैन से सम्पर्क किया तो वह उससे रास्ता बनवाने के नाम पर 50 हजार रूपए की रिश्वत की मांग कर रहे हैं। इस शिकायती पत्र पर कलेक्टर ने जांच के आदेश दिए हैं।