कोलारस की तर्ज पर करैरा में भी सहकारी बैंक में 4 करोड़ का घोटाला,ऑडिट के दौरान पकड़ा गया घोटाला- Shivpuri News

शिवपुरी।
बैसे तो शिवपुरी जिला भ्रष्टाचार के मामले में नित नए आयाम गढ रहा है। यहां खुलेआम अधिकारी पब्लिक के पैसे को लूटने में लगे हुए है और जिम्मेदार नेता तमाशवीन बनकर शहर को लुटता हुआ देख रहे है। कोलारस में रामेश्वर धाम परिवार द्धारा सहकारी बैंक को पूरी तरह से कंगाल करने के बाद अब नया मामला करैरा से सामने आया है। जहां केन्द्रीय सहकारी बैेक में से 3.82 करोड़ रूपए के आहरण की शिकायत दर्ज की गई है। इस मामले का खुलासा ऑडिट के दौरान हुआ है।

सीसीबी शाखा करैरा के ब्रांच मैनेजर ने करैरा पुलिस थाने शिकायती आवेदन देतेे हुए बताया है कि करैरा ब्रॉंच के तत्कालीन निलंबित मैनेजर द्धारा पैक्स सोसाईटी के जरिए 3 करोड़ 82 लाख रूपए की राशि का अंतरण और आहरण किया गया है। पत्र के जरिए बताया गया है कि बैंक द्वारा चार्टेट अकाउंटेंट एसके लुल्ला एंड कंपनी से प्राथमिक कृषि साख सहकारी संस्था टोड़ा पिछोर का ऑडिट कराया गया।

चार्टेट अकाउंटेंट द्वारा पैक्स सोसायटी 13 नवंबर 2017 को 23.41 लाख रुपये और 11 जनवरी 2018 को 49.80 लाख रुपये, 4 जुलाई 2018 को 70.60 लाख रुपये, 18 फरवरी 2019 को 39.97 लाख रुपये और 25 अप्रैल 2019 कारे 2 करोड़ रुपये की धनराशि का संदेहास्पद आहरण पाया गया है।

इस कारण बैंक को कुल 3.82 करोड़ रुपए की हानि हुई है। समिति प्रबंधक सहित भृत्य और दो सेवानिवृत्त सहित निलंबित शाखा प्रबंधक की आईडी का इस्तेमाल हुआ है। बैंक की राशि का षडयंत्र पूर्वक गबन कर भ्रष्टाचार किया है। मामले में करैरा थाना पुलिस जांच कर कार्रवाई की बात कह रही है।

इनका कहना है

इस संबंध में अभी हमारे पास आवेदन आया है। हम इस आवेदन की जांच करा रहे है साथ ही बरिष्ठ अधिकारीयों को भी इस आवेदन के संबंध में बता दिया है। अब बरिष्ठ अधिकारीयों के मार्गदर्शन के बाद इस मामले में एफआईआर दर्ज की जाएगी।
सतीश सिंह चौहान,थाना प्रभारी करैरा।