फोर व्हीलर खरीदने के लिए पवन ने अपने ही अपहरण की झूठी कहानी रच दी - Shivpuri News

शिवपुरी। थाना प्रभारी बम्हारी को 4 मई को शाम करीब 7 बजे फोन पर सूचना प्राप्त हुई कि पवन गुर्जर निवासी गुनाया का कहीं गुम हो गया है उसकी मोटर सायकल खोडन घाटी पर खड़ी हुई है। सूचना की तस्दीक हेतु मय बल के खोडन घाटी पहुंचा जहां पवन गुर्जर के परिजन उसकी मोटर सायकल के पास खड़े थे मौके पर सूचनाकर्ता तहसीलदार पुत्र रामधार गुर्जर उम्र 30 साल निवासी मोहना की रिपोर्ट पर गुमशुदगी की जांच शुरू की गई।

मामले की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल के निर्देशन एसडीओपी अजय भार्गव अनुविभाग शिवपुरी के नेतृत्व में गुमशुदा पवन गुर्जर पुत्र मुंशी गुर्जर उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम गुनाया थाना सुभाषपुरा की तलाश हेतु दो पुलिस टीम बनायी गयी। इस दौरान पवन गुर्जर का मोबाईल चालू हो गया बात करने पर अपने परिजनों को बताया कि मुझे कुछ लोगो ने पकड लिया है, और छोड़ने के लिये 5 लाख रुपये मांग रहे हैं।

मोबाईल की लोकेशन सायबर सेल से निकलवाने पर मोबाइल की लोकेशन ग्राम डोगंरी के पास जंगल मे आयी तब एक पुलिस टीम खोडन घाटी से जंगल के रास्ते डोंगरी तरफ तलाश करने निकली तथा दूसरी पुलिस टीम डोगरी से झिरन्या तरफ रवाना हुई पवन गुर्जर का मोबाईल चालू था उसकी लोकेशन लगातार बदल रही थी पुलिस इसका पीछा कर रही उसके बाद उसकी लोकेशन मोहनी डेम के रेस्ट हाउस के पास मिली पुलिस टीम ने वहां पहुंच कर तलाशी की तो पहाड़ी पर पवन गुर्जर बैठा हुआ मिला जिसे पुलिस ने अपनी अभिरक्षा में ले लिया।

युवक से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि 11 लोगो ने मुझे बंधक बना लिया था और मुझे छोड़ने के लिये 5 लाख रुपये मांग रहे थे। पुलिस को संदेह होने पर उससे गंभीरता से पूछताछ की तो उसने बताया कि मेरी शादी होने वाली है, मैने अपने पिताजी से चार पहिया गाड़ी खरीदने के लिये पैसे मांगे तो उन्होंने मना कर दिया पिताजी से पैसे निकलवाने के लिये मैने झूठे अपहरण की कहानी रची थी उसके बाद पवन गुर्जर को पुलिस ने सकुशल उसके परिजनों को सुपुर्द कर दिया।