हरभजन को ईमानदारी पडी भारी, साथी की चोरी की शिकायत की तो क्रोध में फांसी के फंदे पर लटका लिया- kolaras News

कोलारस। कोलारस के क्षेत्र में रहने वाले युवक को ईमानदारी की कीमत अपनी मौत से चुकानी पडी। मृत युवक ने अपने साथी की चोरी करने की शिकायत अपने सेठ से कर दी तो क्रोध में आकर उसको फांसी के फंदे पर लटका दिया जिससे उसकी मौत हो गई,पुलिस ने इस मामले में हत्यारे और उसके साथ के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

जानकारी के अनुसार हरभजन‎ पुत्र रामप्रसाद पाल की लाश 26‎ अप्रैल को भडौता चक कच्चा‎ रोड पुलिया के पास खंती में‎ लटके पेड़ की डाल से फांसी के‎ फंदे पर लटकी मिली थी। पुलिस‎ ने मर्ग कायम कर विवेचना प्रारंभ‎ की।

पुलिस ने विवेचना के दौरान‎ बयान दर्ज किए और घटना स्थल‎ का मुआयना किया। मृतक के‎ घटना स्थल पर बटन टूटना, मय‎ डोरे के हाय मिली और ईयरफोन‎ व साइकिल की चाबी दूर‎ मिलना। जांच के दौरान साइकिल‎ घटना स्थल से 1 किमी दूर मिली‎ थी। मृतक की मां जानकी ने‎ बताया कि बंटी सेठ की दुकान‎ पर बेटा हरभजन नौकरी करता‎ था। उसी दुकान पर मोहन गिरी‎ भी नौकरी करता था।

हरभजन ने‎ सेठ से मोहन गिरी की दुकान से‎ चोरी करने संबंधी शिकायत कर‎ दी थी। इसी के चलते मोहन गिरी‎ की हरभजन से रंजिश हो गई।‎ मोहन गिरी ने अपने अन्य साथी‎ के साथ हरभजन का गला‎ घोंटकर लकड़ी की कटी डालकर‎ पर फांसी के फंदे पर लटका‎ दिया। मां ने बेटे हरभजन की‎ हत्या की आशंका मोहन गिरी व‎ उसके साथी पर जताई। पुलिस ने‎ धारा 302 के तहत केस दर्ज कर‎ लिया है।‎