एक डॉक्टर ने देखने से किया मना, दूसरा आया जब तक 28 वर्षीय युवक की हार्टअटैक से मौत: हंगामा- Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शिवपुरी के जिला अस्पताल से आ रही हैं,यह खबर फिर जिले के स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही उजागर करते हुए चिकित्सा क्षेत्र को बदनाम करती है,बताया जा रहा हैं कि डॉक्टर की लापरवाही के कारण 28 वर्षीय युवक की हार्टअटैक से मौत हो गई। परिजनों का‎ कहना है कि डॉक्टर ने मरीज को‎ देखने से मना कर दिया। इलाज में देरी‎ की वजह से मौत हुई है। वहीं डॉक्टर‎ का कहना है कि युवक की पहले ही‎ मौत हो चुकी थी। मामले में डॉक्टरों‎ के खिलाफ कोतवाली थाने में‎ शिकायत की है।‎

जानकारी के अनुसार वृंदावन धाकड़ निवासी ग्राम‎ रामगढ़ तहसील पोहरी की रविवार की‎ दोपहर हृदय गति रुकने से मौत हो‎ गई। मरीज के संग आए राकेश धाकड़‎ का कहना है कि वृंदावन को सीने में‎ दर्द होने के कारण सुखदेव हॉस्पिटल‎ ले गए। यहां से जिला अस्पताल‎ शिवपुरी ले जाने की सलाह दी।‎

दोपहर 12 बजे अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टर संतोष पाठक ने देखने से मना‎ कर दिया। काफी देर बाद दूसरा‎ डॉक्टर आया, तब उसने बताया कि ‎इनकी मौत हो चुकी है। लापरवाही‎ और देरी की वजह से जिला‎ अस्पताल में वृंदावन की आकस्मिक‎ मौत हुई है। जब संबंधित डॉक्टर व‎ अन्य डॉक्टरों से कहा तो वह गालियां‎ देकर अभद्र व्यवहार करने लगे।

जिन‎ डॉक्टर की वजह से वृंदावन की मौत‎ हुई है, उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई‎ की जाए। वहीं डॉक्टर संतोष पाठक‎ का कहना है कि मरीज की पहले ही‎ मौत हो चुकी थी। जांच करके तुरंत‎ मृत घोषित कर दिया था। बाद में कुछ‎ लोग आए और हंगामा करने लगे।‎ मरीज की मौत के बाद जिला‎ अस्पताल में हंगामा होने की सूचना‎ ‎कोतवाली व देहात थाना पुलिस‎ पहुंची।

जिसके बाद कोतवाली टीआई‎ सुनील खेमरिया व देहात थाना टीआई‎ विकास यादव ने परिजनों को‎ समझाया।। मृतक युवक के परिजनों‎ की ओर से डॉक्टरों के खिलाफ‎ पुलिस ने आवेदन ले लिया है।‎