भाई की पीएम रिपोर्ट मांगने आए थे, ASI महेंद्र पाठक दी गालियां, SP ने किया सस्पेंड - kolaras News

कोलारस। कोलारस‎ फांसी से संबंधित युवक की मौत‎ के केस में परिजनों से अभद्रता‎ और गाली गलौज का मामला‎ सामने आने पर एसपी राजेश सिंह‎ चंदेल ने दरोगा को सस्पेंड कर‎ दिया है। अकाझिरी निवासी‎ हरिओम लोधी ने एसपी से‎ शिकायत की थी कि 15 मई को‎ बीट प्रभारी एएसआई महेंद्र पाठक‎ से गुहार लगाने पहुंचे थे।

मृतक भाई‎ नीरज की पीएम रिपोर्ट की‎ जानकारी मांगने पर दरोगा ने‎ गालियां दीं और अभद्रता की।‎ मामले से संबंधित वीडियो‎ रिकार्डिंग सामने आने पर एसपी‎ राजेश सिंह ने बुधवार को‎ एएसआई पाठक को निलंबित कर‎ दिया है।‎

यह था पूरा मामला, पुलिस अधीक्षक से की थी शिकायत

अकाझिरी निवासी हरिओम लोधी ने सर्किट हाउस पर एसपी से लिखित शिकायत की है। हरिओम का कहना है कि वह 15 मई की दोपहर 12 बजे बड़े भाई हरेंद्र लोधी के संग बीट प्रभारी एएसआई महेंद्र पाठक के पास गुहार लगाने पहुंचे। भाई नीरज की पीएम रिपोर्ट की जानकारी मांगने पर पाठक दरोगा ने गालियां दीं और अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया।

उसने कहा कि अभद्रता करते हुए वीडियो रिकॉर्डिंग सुनेंगे तो शर्म से भर उठेंगे। एसपी से आग्रह किया है कि पुलिस के ऐसे गंदे चरित्रहीन अफसरों पर कार्रवाई कर लोगों को संदेश दें कि थाने पर बैठकर अफसरशाही नहीं चलेगी। जनता की सेवा, न्याय करना पुलिस का पहला धर्म है।

24 अप्रैल को भाई का शव पेड़ से लटका मिला था

हरिओम का कहना है कि 24 अप्रैल की दोपहर भाई नीरज लोधी का शव जामुन के पेड पर लटका मिला था। पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना प्रारंभ की। लेकिन घटना स्थल पर प्रथम दृष्टया ऐसे तथ्य सामने आए,

जिनसे ऐसा लगता है कि नीरज को मारकर लटकाया हो। उसका सामान इधर-उधर बिखरा पड़ा था। लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। मेरे भाई की मौत की सही तरीके से जांच कर हत्यारों को गिरफ्तार करें और प्रकरण दर्ज किया जाए। एसपी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है। युवक फांसी पर लटका मिला था, परिजनों को हत्या की आशंका है।