महिला सरपंच की गुहार: सचिव मांगता है कमीशन, ​सचिव को हटाओ नही तो भूख हड़ताल पर बैठेंगे ग्रामीण - Shivpuri News

शिवपुरी। मंगलवार को जनसुनवाई मे अपनी शिकायत लेकर पहुंची महिला संरपंच ने बताया कि हमारी पंचायत का सचित हरिशंकर परिहार गांव मे होने वाले कार्यों के लिए 25 प्रतिशत का हिस्सा मांगता है और कहता है अगर उसे हिस्सा नही मिलेगा तो वह गांव मे कोई कार्य नही होने देगा, जिस कारण से गांव मे कोई कार्य नही हो पा रहे हैं और मजदूर वर्ग की भूखा मरने की नौवत आ गई है।

जिले के करैरा जनपद के अंतर्गत आने वाले ग्राम बघरा साजौर निवासी सरपंच मनीषा शर्मा ने जनसुनवाई मे बताया कि सचिव हरिशंकर से ग्राम पंचायत के निमार्ण कार्यों में 25 प्रतिशत परसेंट मांग रहा है। में कार्य कराऊ या सचिव को पैसे दूँ मेरी ग्राम पंचायत में मजदूर भूकिन मर रहे हैं। श्रीमान जी से निवेदन है कि मै ग्राम पंचायत बघरा साजौर में सरपंच पद पर हूँ मेरी ग्राम पंचायत में सचिव हरिशंकर परिहार को सचिव पद पर पदस्थ किया गया है। हरिशंकर की पत्नी जिला पंचायत पदस्थ है। हरिशंकर परिहार पर भाजपा के कुछ नेताओं का संरक्षण है।

सचिव हरीशंकार ने पूर्व में छिरारी पंचायत मे 84 लाख रूपये का गवन किया था। सचिव हरीशंकर परिहार को जिला पंचायत सी. ओ. के द्वारा सचिव की नौकरी से सेवा समाप्त कर दिया था और प्रकरण दर्ज कराया था। उसमें जेल भी गया था। उसके बाद हाईकोर्ट से नौकरी पर वहाल होकर आ गया ग्राम पंचायत बघरा साजौर सचिव पदस्थ कर दिया। जब यह सचिव पंचायत में आया है तभी से यह सचिव हितग्राहियों से पीएम आवास के पैसे निकलवाने लोगों से पैसे की मांग कर रहा है।

मेरी ग्राम पंचायत बघरा साजौर मेरे पति सचिव के पद पर थे। मेरे पति को झूटा 302 केस में फंसा दिया। मेरे पति तीन साल से जेल में बंद है। सचिव से ग्राम के आदिवासी हरीजन मजदूरों को मजूरी नहीं मिल पा रही है। कुछ गांव के मजदूर पलयान करने के लिये बाहर मजदूरी करने निकल गये हैं। कुछ मजदूर दूसरे गांव में मजदूरी करने जाते है। अतः ऐसे भ्रष्ट सचिव को मेरी पंचायत से हटाया जाये और रोजगार सहायक को ग्राम पंचायत का चार्ज दिया जाये।

यदि सचिव हरीशंकर को मेरी ग्राम पंचायत से नहीं हटाया तो में ग्राम के समस्त हरीजन आदिवासी मजदूरों को ट्रेक्टरों से ले जा कर कलेक्टर महोदय के सामने लगभग दो सौ से पांच सौ मजदूर मुझ महिला सरपंच के साथ टेन्ट लगाकर भूख हड़ताल पर बैठेंगे यह भ्रष्ट सचिव मेरी पंचायत से 8 दिवस में हटाया जाये नहीं तो मैं समस्त महिलाये एवं मजदूर समस्त ग्राम वासियों को ले जा कर अनसन पर बैठूंगी यह भ्रष्ट सचिव हरीशंकर की पत्नी जिला पंचायत सदस्य है और भाजपा के कुछ नेताओं के संरक्षण होने से यह सचिव को अधिकारीयों के द्वारा नहीं हटाया जा रहा है।

महिला सरपंच ने का कहना है कि वह कई बार इसकी शिकायत कर चुकी है। जिनकी छाया प्रति भी उसके पास है इसने मेरे बिलों पर फर्जी हस्ताक्षर करके अधिकारियों एवं उपयंत्री की मिली भक्त से 2.95 हजार रूपये निकाल लिये। तब भी अधिकारियों से शिकायत कि तो कोई कार्यवाही नहीं की मेरे पति जेल में बंद है में महिला हूँ। में चलने फिरने में असमर्थ हूं। भ्रष्ट सचिव को मेरी पंचायत से हटा कर अन्य सचिव व रोजगार सहायक को चार्ज दिलाया जाये ताकि ग्रामवासीयों को योजनाओं का लाभ मिल सके।