अमर शहीद तात्या टोपे के बलिदान दिवस पर 2 दिवसीय शहीद मेले का हुआ शुभारंभ

शिवपुरी। अमर शहीद तात्या टोपे के बलिदान दिवस के अवसर पर दो दिवसीय शहीद मेला का आयोजन किया जा रहा है। तात्या टोपे समाधि स्थल पर दो दिवसीय कार्यक्रम रखा गया है। बलिदान दिवस के अवसर पर सोमवार 18 अप्रैल को सुबह तात्या टोपे समाधि स्थल पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त और पाठ्य पुस्तक निगम के उपाध्यक्ष प्रहलाद भारती कार्यक्रम में शामिल हुए।

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में प्रोफेसर दिग्विजय सिंह सिकरवार ने तात्या टोपे के स्वतंत्रता संग्राम में योगदान पर प्रकाश डाला। श्रद्धांजलि सभा में कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल, जिला पंचायत सीईओ उमराव मरावी, एसडीएम गणेश जायसवाल सांसद प्रतिनिधि हेमंत ओझा सहित शहर के गणमान्य नागरिक और स्कूली छात्र छात्रा शामिल हुए।

इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद प्रोफेसर दिग्विजय सिंह सिकरवार ने तात्या टोपे के बलिदान को याद करते हुए कहा कि तात्या टोपे ने देश के स्वतंत्रता संग्राम में अहम भूमिका निभाई है उनके बलिदान को आज हम सभी याद कर रहे हैं।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री प्रहलाद भारती ने अपने संबोधन में कहा कि जो राष्ट्र, समाज और देश के लिए जीते हैं उन्हें इतिहास याद रखता है।

ऐसे ही स्वतंत्रता संग्राम के महानायक हैं तात्या टोपे, जिन्होंने 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में अपना योगदान दिया। उन्होंने पूरे देश में राष्ट्रभक्ति की अलख जगाई। उन्होंने अंग्रेजों से लड़ने के लिए छापामार युद्ध पद्धति को अपनाया। लगभग 150 युद्ध लड़े जिसमें हजारों अंग्रेज सैनिकों को खदेड़ा। ऐसे अमर शहीद तात्या टोपे के बलिदान दिवस के अवसर पर आज हम श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।

श्रद्धांजलि सभा से पहले कार्यक्रम में अतिथियों ने तात्या टोपे की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और ध्वजारोहण किया गया और इस प्रकार दो दिवसीय शहीद मेला का शुभारंभ हुआ। जिसमें शाम 7 बजे से देशभक्ति गीतों पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया जा रहा है।

स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों से संबंधित प्रदर्शनी आकर्षण का केंद्र
स्वराज संस्थान संचालनालय एवं जिला प्रशासन के समन्वय से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है। कार्यक्रम में जनसंपर्क विभाग सहित विभिन्न विभागों की प्रदर्शनी लगाई गई है। प्रदर्शनी में तात्या टोपे से जुड़ा साहित्य व जानकारियां रखी गई हैं। सैनिकों से संबंधित अस्त्र-शस्त्र की प्रदर्शनी कमांडेंट, सीआरपीएफ, आईटीबीपी और एसएएफ 18 बटालियन आदि के समन्वय से लगाई गई है। शहर के नागरिक प्रदर्शनी का अवलोकन कर रहे हैं। श्रद्धांजलि सभा के दौरान मुख्य अतिथि सहित कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक, शहर के गणमान्य नागरिकों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया।