गौ हत्या के मामले को लेकर ग्रामीणों ने किया चक्का जाम, झिरी गांव बना पुलिस छावनी, पत्रकार पर मामला दर्ज - Shivpuri News

शिवपुरी।
गौ मांस विक्रय को लेकर जा रहे दो आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस पोहरी थाना क्षेत्र के ग्राम झिरी में जांच के लिये लेकर पहुंची, जिसके बाद आरोपियों पर सख्त कार्यवाही की मांग को लेकर झिरी एवं आसपास के ग्रामीणों ने चक्का जाम कर दिया। पांच थानों की पुलिस ने झिरी गांव को छावनी में तब्दील कर दिया, उप पुलिस अधीक्षक के आश्वासन के बाद ही ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ।

जानकारी के अनुसार बीते रोज झिरी निवासी अशफाक तथा तौफिक खान कट्टे में भरकर गौ मांस विक्रय करने के लिए पुरानी शिवपुरी लेकर जा रहे थे जहां उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके खिलाफ धारा 4/5 गौवंश वध प्रतिषेध अधिनियम 2004, 429 आईपीसी के तहत प्रकरण दर्ज किया गया था।

जिसके बाद उनसे पूछताछ हेतु मौका मुआयना करने देहात थाना पुलिस झिरी लेकर आई जहां ग्रामीणों ने गौ हत्या को लेकर सख्त कार्यवाही की मांग करते हुए प्रदर्शन करना शुरू कर दिया, इतना ही नहीं झिरी के मुख्य चौराहे सड़क खड्डे डालकर लगभग दो घंटे तक आस-पास के चार गांव के लोगों ने आकर आक्रोष व्यक्त किया जिससे कुछ समय के लिए आवागमन बाधित हो गया। ग्रामीणों का कहना था कि गौ हत्या आरोपियों जुलूस निकाला जाए, उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करते हुए कड़ी सजा दी जाए।

आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग कर रहे ग्रामीणों कोे धमकाने उसी समय तथाकथित पत्रकार इरफान खान वहां आया और ग्रामीणों के साथ ग्लीगलोच करते हुए उन्हें गोली मारने की धमकी देने लगा तो माहौल बिगड़ने लगा, पुलिस ने तत्काल कार्यवाही करते हुए इरफान को तत्काल गिरफ्तार करते हुए उसके खिलाफ पोहरी थाने में भादवि की धारा 295 ए तथा 506 के तहत प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही की जा रही है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण भूरिया, एसडीओपी निरंजन सिंह राजपूत, सहित अन्य पांच थानों का पुलिस बल मय बज्र वाहन के पहुंचा और झिरी गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया जिसके बाद ग्रामीणों ने आश्वासन के बाद सड़क को खाली कराकर अवरोध दूर कर दिया गया।