संसद में बाघ पर सवाल: योजना का धरातल पर क्रियान्वयन नही, सेफ्टी ऑडिट प्रशिक्षण भी जीरो - Shivpuri News

शिवपुरी। लोकसभा के बजट सत्र का द्वितीय चरण प्रारंभ हो गया है। सत्र के शून्य काल के दौरान गुना-शिवपुरी-अशोकनगर संसदीय क्षेत्र के सांसद डॉ.केपी यादव ने क्षेत्रीय मुद्दों के क्रियान्वयन को लेकर अपनी बात रखी। सांसद डॉ. केपी यादव ने कहा कि शिवपुरी गुना संसदीय क्षेत्र को केंद्र सरकार द्वारा अनेक सौगातें प्राप्त हुई है, परंतु प्रशासनिक या अन्य कारणों से उनका आज तक धरातल पर क्रियान्वयन नहीं हो सका है।

इसमें सांसद केपी यादव माधव राष्ट्रीय उद्यान की टाइगर सफारी को लेकर भी कहा कि स्वीकृत होने के बाद भी यह योजना का धरातल पर क्रियावंयन नहीं हो पाया है। उल्लेखनीय है कि इस योजना का श्रेय लेने की होड़ भी लगी थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस योजना की सौगात देने के बाद सांसद केपी यादव ने भी लेटर जारी किया था।

इसमें उन्होंने बताया था कि इस योजना के लिए उन्होंने केंद्रीय पर्यावरण व वन मंत्री से अनुरोध किया था। इसके अलावा सांसद यादव ने प्रमुख स्वीकृत सौगातें बताते हुए कहा कि एनएचएम के माध्यम से सभी जिला चिकित्सालय में चिकित्सा सुविधा की वृद्धि, अशोकनगर में केंद्रीय विद्यालय का निर्माण, शिवपुरी में क्रांतिवीर तात्या टोपे का विश्व स्तरीय संग्रहालय, गुना में पासपोर्ट सेवा केंद्र का निर्माण कार्य जैसे अनेक स्वीकृत कार्यों का धरातल पर क्रियान्वयन नहीं हो पाया है।

उन्होंने कहा कि सभी स्वीकृत जन सुविधाओं को शीघ्र क्षेत्र में क्रियान्वित किया जाए, जिससे जनता को इन सुविधाओं का लाभ प्राप्त हो सके। प्रश्नकाल के दौरान बोलते हुए सांसद डॉ. केपी यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत कोरोना वॉरियर्स कोर्सेज के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि स्वास्थ्य संबंधी शिक्षा व प्रशिक्षण लेकर कई युवाओं को कोरोना रोगियों की सेवा करने का तथा रोजगार का अवसर भी प्राप्त हुआ।

उन्होंने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को भी धन्यवाद दिया। कोरोना काल में उनके द्वारा सीएसआर फंड के माध्यम से वेंटिलेटर, मोबाइल हॉस्पिटल जैसी अनेक स्वास्थ्य संबंधित सुविधाओं को क्षेत्र के नागरिकों को प्रदान करने के लिए धन्यवाद दिया और अन्य प्रश्न पूछे।

सेफ्टी ऑडिट पर भी पूछे सवाल

सांसद डॉ. केपी यादव ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से आईसीयू इमरजेंसी वार्ड में कई बार इलेक्ट्रॉनिक शॉर्ट सर्किट की वजह से दुर्घटनाएं होने, कोविड सेंटर एवं हॉस्पिटल की सेफ्टी ऑडिट के लिए टेक्नीशियन स्किल डेवलपमेंट हेतु कोरोना वॉरियर्स कोर्स में सेफ्टी ऑडिट प्रशिक्षण हेतु प्रावधान के संबंध में प्रश्न पूछे गए।